क्या आपको कभी भी ऊपरी पेट में असहजता हुई है? हम सभी को कभी-न-कभी जी मिचलाने की परेशानी जरूर हुई होगी| जी मिचलाने पर ऊपरी पेट में असहजता का अहसास होता है और उल्टी आने जैसा लगता है| जी मिचलाने पर आपको थकान का अनुभव होता है| जी मिचलाने से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपचारों के बारे में जानना आपके लिए उपयोगी रहेगा|

कई लोगों को यात्रा करने के दौरान सिर चकराना और जी मिचलाना जैसी समस्याएं होती हैं, इसे मोशन सिकनेस कहा जाता है| जी मिचलाने के शारीरिक अवस्था से लेकर मानसिक अवस्था तक कई कारण हो सकते हैं; जैसे उचित ढंग से पाचन न होना, पेट का संक्रमण, अल्कोहल का अधिक सेवन, मोशन सिकनेस, गर्भावस्था, कैफीन का अत्यधिक सेवन, खराब खाना खाने से हुई बीमारी (फूड पॉइज़निंग) और मासिक धर्म आदि|

Advertisements

जी मिचलाने के घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करें

जी मिचलाने पर चिंता करने, घबराहट होने, चक्कर आने, उल्टी आने का आभास, असहजता और कमजोरी भी आने लगती है|

कुछ मामलों में उल्टी हो जाने पर जी मिचलाने से राहत मिलती है क्योंकि शरीर से हानिकारक पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और कुछ गंभीर मामलों में लोग दवाओं का सेवन करने लगते हैं, जो शरीर के लिए हानिकारक होती हैं|

इसलिये आपको प्राकृतिक घरेलू उपचारों को अपनाना चाहिए| यहाँ हम जी मिचलाने से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपचार बता रहे हैं, जिनके इस्तेमाल से आपको पांच मिनट से भी कम समय में जी मिचलाने से राहत मिलेगी|

Advertisements

विधि 1: अदरक

प्राचीन समय से ही जी मिचलाने के इलाज के लिए अदरक का उपचार अपनाया जाता रहा है| यहाँ तक कि अदरक का जी मिचलाने के लिए अदरक का इस्तेमाल गर्भवती महिलाओं और कीमोथेरेपी करवा चुके लोगों के लिए भी अच्छा होता है| आप घर पर जिन्जर एल बनाने के लिए ताजी अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं|

अदरक में पाए जाने वाले सक्रिय फेनाल यौगिक; जैसे जिन्जेरॉल और शगोल आदि पाचक रसों के स्राव में सहायक होते हैं| अदरक में वालटिल ऑयल भी पाया जाता है, जो न केवल पेट को ठीक रखता है, बल्कि पाचन को सुधारने में भी सहायक है|

सोडा वाटर में कार्बन डाई ऑक्साइड गैस पाई जाती है, जो डकार लाने में सहायक है, जिससे पेट दर्द में आराम मिलता है| अधिकांश सोडा वाटर में बेकिंग सोडा पाया जाता है, जो पेट में बनने वाले अतिरिक्त अम्ल (एसिड) को बेअसर कर देता है|

नींबू अम्ल (एसिड) के प्रभाव को निष्क्रिय कर देता है, इससे जी मिचलाना कम हो जाता है| यह जी मिचलाने से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपचार में से एक है|

आवश्यक सामग्री:

जिन्जर एल बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

Advertisements
  • छीलकर पतले-पतले टुकड़ों में काटी गयी अदरक (पेट को आराम पहुंचाता है) – एक चौथाई कप (लगभग 32 ग्राम)
  • चीनी – एक चौथाई कप (लगभग 32 ग्राम)
  • नींबू (जी मिचलाना कम करता है) – आधा
  • सोडा वाटर (पेट दर्द में आराम देता है) – एक चौथाई कप (लगभग 60 मिली0)
  • पानी – दो कप (लगभग आधा लीटर)

1. एक बर्तन में पानी और अदरक डालें

अदरक और पानी को एक पैन में डाल लें

  • एक बर्तन (पैन) में एक कप (लगभग 250 मिली0) पानी डालें|
  • इसमें एक चैथाई कप कटी हुई अदरक डालकर गैस चालू कर दें|

2. मिश्रण को उबालकर छान लीजिये

इसे उबालकर छान लीजिये

  • इसमें एक उबाल आने दीजिये|
  • फिर तैयार अदरक के पानी को छानकर अलग रख दीजिये|

3. पानी में चीनी डालकर उबाल लीजिये

चीनी और पानी को उबाल लीजिये

  • एक बर्तन (पैन) में एक कप पानी डालिए|
  • इसमें एक चौथाई कप चीनी डालकर, इसे उबाल लीजिये|
  • फिर मिश्रण को दो से तीन मिनट तक पकाकर अलग निकाल लीजिये|

4. सभी पदार्थों को मिलाकर तैयार जिन्जर एल का सेवन करें

जिन्जर एल तैयार करें

Advertisements
  • एक गिलास में पहले से तैयार अदरक का पानी डाल लें|
  • इसमें चीनी का घोल भी डाल दें|
  • अब इसमें एक चौथाई कप सोडा वाटर डालें|
  • फिर इसमें आधा नींबू निचोड़कर इसका सेवन करें|

दिन में तीन बार घर पर बने जिन्जर एल का सेवन करें| लेकिन इसका अधिक सेवन न करें| आप इसे फ्रिज में रख सकते हैं| जी मिचलाने पर तुरंत राहत पाने के लिए ठण्डे जिन्जर एल का सेवन करें|

तैयार जिन्जर एल का सेवन करें
जिन्जर एल जी मिचलाने में काफी कारगर होता है

विधि 2: बेकिंग सोडा

पाचन तंत्र को राहत देने के लिए बेकिंग सोडा भी एक प्रभावी घरेलू उपचार है| यह पेट में बनने वाले एसिड को नियंत्रित करता है| जी मिचलाने के इलाज के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल एक घरेलू नुस्खा है|

1. पानी में बेकिंग सोडा डालिए

बेकिंग सोडा को पानी में डालिए

  • एक गिलास (लगभग 250 मिली0) पानी में एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम)  बेकिंग सोडा डालिए|

2. अच्छे से मिलाकर तैयार बेकिंग सोडा के पानी का सेवन कीजिये

तैयार बेकिंग सोडा के पानी का सेवन कीजिये
बेकिंग सोडा के पानी के सेवन से जी मिचलाने से निजात पाया जा सकता है
  • इसे अच्छे से मिला लें और दिन में एक बार इस पेय का सेवन करें| बेकिंग सोडा के पेय के सेवन से मिनटों में जी मिचलाने से राहत मिलेगी|
  • जी मिचलाने पर इस पेय का उपयोग कीजिये|

विधि 3: स्पिरिट (रबिंग अल्कोहल)

जी मिचलाने के इलाज के लिए स्पिरिट (रबिंग अल्कोहल) का इस्तेमाल किया जा सकता है| इसकी महक से मिनटों में जी मिचलाना ठीक हो जाता है|

रुई में स्पिरिट लेकर नाक के नीचे रखिये

स्पिरिट को रुई में लीजिये
स्पिरिट की सुगंध शान्ति प्रदान करती है
  • थोड़ी सी रुई में स्पिरिट (रबिंग अल्कोहल) ले लीजिये|
  • इस रुई को नाक के नीचे रखकर इसकी महक लीजिये|
  • प्रत्येक दो से चार मिनट में इसे सूंघते रहिये|

जी मिचलाने से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपचार में से यह एक बहुत ही आसान उपचार है, इसके इस्तेमाल से दस मिनटों में ही जी मिचलाना बंद हो जाता है|

विधि 4: एक्यूप्रेशर

जी मिचलाने से राहत पाने के लिए एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल किया जाता है| शरीर की निश्चित जगहों पर दबाव बनाने की क्रिया को एक्यूप्रेशर कहा जाता है|

Advertisements

शरीर के निश्चित भागों पर दबाव बनाने से न्यूरोट्रांसमीटर; जैसे सेरोटोनिन और एंडोर्फिन को दिमाग को संकेत भेजने के लिए बढ़ावा मिलता है| ये रसायन आपको बीमारी का अनुभव कराने वाले रसायनों को बाधित कर देते हैं और दर्द, जी मिचलाना कम करने वाले हार्मोन के स्राव में सहायक होते हैं|

शरीर की निश्चित जगहों पर एक्यूप्रेशर दीजिये
जी मिचलाना कम करने के लिए एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल कीजिये
  • जी मिचलाने से राहत पाने के लिए अपने हाथ के p6 बिंदु पर दबाव बनाइये| p6 बिंदु को इनर गेट के नाम से भी जाना जाता है| यह बिंदु आपकी हथेली के नीचे कलाई पर दो से तीन उंगली छोड़कर स्थित होता है|
  • यह बिंदु ज्ञात करने के लिए हथेली के नीचे कलाई पर तीन उंगलियाँ रखिये| आपकी पहली उंगली के ठीक नीचे आने वाला बिंदु एक्यूप्रेशर का p6 बिंदु कहलाता है|
  • अंगूठे की सहायता से p6 बिंदु पर हल्के से दबाव बनाइये|
  • दो से तीन मिनट तक दबाये रखिये और गहरी सांसें लीजिये|
  • दूसरे हाथ पर भी यही प्रक्रिया दोहराइए|

विधि 5: सेब का सिरका

सेब के सिरके से भी जी मिचलाने का इलाज किया जाता है| सेब का सिरका पाचन तंत्र पर क्षारीय प्रभाव डालता है, जिससे पेट में आराम मिलता है और पेट का एसिड नियंत्रित रहता है| इससे आपको बीमारी का अहसास नहीं होता है| जी मिचलाने पर सेब के सिरके का उपयोग कीजिये|

1. एक गिलास पानी में सेब का सिरका डालिए

सेब के सिरके को एक गिलास पानी में डालिए

  • एक गिलास पानी (लगभग 250 मिली0) में एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0) सेब का सिरका डालिए|

2. अच्छे से मिलाकर इसका सेवन कीजिए

सेब के सिरके के पेय का सेवन कीजिये
सेब के सिरके के सेवन से जी मिचलाना ठीक हो जाता है
  • मिश्रण को अच्छी तरह से मिला लीजिये|
  • जी मिचलाने पर दिन में एक बार सेब के सिरके के पेय का सेवन कीजिये|

जी मिचलाने से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपचार में से यह एक कारगर उपाय है|

सुझाव

  • खुली हवा में सांस लेने की कोशिश कीजिये| इसके लिए घर की खिड़कियों को खोल दीजिये या बाहर टहलिए |
  • माथे या गर्दन के पीछे वाले हिस्से पर कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कीजिये| आप घर पर आसानी से कोल्ड कंप्रेस बना सकते हैं|
  • खाना खाने के बाद तुरंत बाद लेटना नहीं चाहिए| ऐसा करने से पेट पर दबाव पड़ता है और जी मिचलाने का अहसास होने लगता है| इसलिये हम आपको खाना खाने के बाद टहलने की सलाह देते हैं|
  • थोड़े-थोड़े समयांतराल में भोजन करें| पेट को ठीक रखने के लिए नाश्ते में अंकुरित अनाज खाएं|
  • कार्बोनेटेड पेयों के अत्यधिक सेवन से बचें क्योंकि ये पेय पेट में गैस बनाते हैं|
  • तनाव और चिंता दूर करने के लिए गहरी सांसें लीजिये| एक्यूप्रेशर थेरेपी का उपयोग कीजिये और ध्यान लगाइए|
Advertisements