यह सुनने में तो किसी नाटक जैसा लगता है, लेकिन कभी-कभी कील-मुंहासों (Acne) के फूट जाने से ज़िन्दगी जैसे ठहर-सी जाती है| एक महत्वपूर्ण इंटरव्यू, कई महीनों पहले से तय की गयी पार्टी या कोई विशेष दिन-ज़रा-से मुंहासे के फूटने से यह सब ख़त्म-सा हो जाता है|

आपकी त्वचा पर लाल रंग का उभार आ जाता है, जिसे मुंहासे कहा जाता है| जब आपकी त्वचा के रोमछिद्रों में धूल, अतिरिक्त तेल या मृत कोशिकाएं जमा हो जाती हैं, तो ये सब मुंहासे होने का कारण बनते हैं| त्वचा के बंद रोमछिद्र बैक्टीरिया के पनपने की जगह बन जाते हैं, जिससे मुंहासे होने की संभावना बढ़ जाती है|

Advertisements

मुंहासों को ख़त्म करने के उपाय

कभी-कभी कील-मुंहासे जल्दी-से ख़त्म हो जाते हैं और कभी-कभी ये लम्बे समय तक बने रहते हैं| इन कील-मुंहासों के साथ जीने के सिवा आपके पास और कोई रास्ता नहीं रह जाता| कुछ घरेलू नुस्खों का उपयोग करके आप इन कील-मुंहासों से छुटकारा पा सकते हैं|

बाजार में इन कील-मुंहासों से निजात पाने के लिए कई दवाएं उपलब्ध हैं, लेकिन घरेलू उपचारों का उपयोग करने से आपकी त्वचा और शरीर पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होंगे| ये उपचार लम्बे समय तक कारगर रहते हैं और सबसे अच्छी बात यह है कि इनकी कीमत भी अधिक नहीं होती है और इन्हें आसानी से मिलने वाले उत्पादों से तैयार किया जा सकता है|

यहाँ हम कील-मुंहासों को जड़ से खत्म करने के 6 घरेलू उपचारों के बारे में बता रहे हैं|

Advertisements

विधि 1: शहद और दालचीनी का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 1 आवश्यक सामग्री

  • शहद
  • दालचीनी पाउडर
  • रुई

शहद और दालचीनी का एक पेस्ट बना लीजिये

शहद और दालचीनी का पेस्ट बनाये

  • शहद और दालचीनी पाउडर का एक गाढ़ा लेकिन लगाने योग्य पेस्ट बना लीजिये| शहद की मात्रा दालचीनी पाउडर से दोगुनी होनी चाहिए| इसे बहुत पतला मत कीजिये क्योंकि यह मीठा और चिपचिपा पेस्ट आपके चेहरे पर फ़ैल जायेगा|

दालचीनी पाउडर और शहद दोनों ही अपने एंटीबैक्टीरियल और जलन को ख़त्म करने वाले गुणों के लिए जाने जाते हैं| शहद में नमी बनाये रखने का भी गुण होता है और यह आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेल को भी संतुलन में रखता है|

मुँहासे
कील-मुंहासों के घरेलू उपचार के लिए दालचीनी और शहद का पेस्ट लगाइए
  • अपने चेहरे को पानी से धोकर अच्छी तरह से सुखा लीजिये|
  • दालचीनी और शहद के पेस्ट को रुई की सहायता से कील-मुंहासों पर लगाइए| चेहरे के दागों को ख़त्म करने के लिए भी आप इस पेस्ट को फेसमास्क की तरह उपयोग कर सकते हैं|
  • इसे पंद्रह मिनट तक लगा रहने दीजिये फिर चेहरे को पानी से धोकर तौलिये से पोछ लीजिये|

कील-मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए सप्ताह में दो से तीन बार इस नुस्खे का इस्तेमाल कीजिये|

नोट:

Advertisements
  • जिन लोगों की त्वचा अधिक कोमल होती है, उन्हें यह उपचार नहीं आजमाना चाहिए|  क्योंकि कभी-कभी दालचीनी से जलन भी होने लगती है|
  • दालचीनी पेस्ट का इस्तेमाल करने के चौबीस घंटे पहले इसे अपने हाथ की त्वचा पर जांच कर लें कि यह आपकी त्वचा के लिए उपयुक्त है या नहीं|

 विधि 2: बेकिंग सोडा और शहद का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 2 आवश्यक सामग्री

  • बेकिंग सोडा
  • पानी
  • शहद
  • रुई

बेकिंग सोडा, शहद और पानी का पेस्ट बना लीजिये

बेकिंग सोडा, शहद और पानी का पेस्ट बनाये

  • एक कटोरे में थोड़ा-सा बेकिंग सोडा लीजिये|
  • इसमें शहद और पानी की समान मात्रा मिलाइए|

बेकिंग सोडा कुछ हद तक सूजन को भी कम करता है| यह आपकी त्वचा को साफ़ कर कील-मुंहासों को जल्द-से-जल्द ठीक करता है| बेकिंग सोडा त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाकर इसमें निखार लाता है, जिससे आपकी त्वचा जवां लगती है|

Advertisements

बेकिंग सोडे के इस्तेमाल से आपकी त्वचा रूखी हो सकती है| इसलिए इसे शहद के साथ इस्तेमाल करने से त्वचा को रूखा होने से बचाया जा सकता है| शहद आपकी त्वचा को नमी प्रदान करता है और मुंहासे बनाने वाले बैक्टीरिया को ख़त्मकर सूजन में भी राहत देता है| शहद के इस्तेमाल से दाग भी नहीं पड़ते हैं|

विधि 2 तैयार मिश्रण
कील-मुंहासों के इस रामबाण घरेलू उपचार को सप्ताह में दो बार लगाइए
  • इस मास्क को रुई या उँगलियों की सहायता से कील-मुंहासों पर लगाइए|
  • इसे पांच मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दीजिये|
  • अब गुनगुने पानी से चेहरे को धोकर तौलिया से सुखा लीजिये|

कील-मुंहासों को जड़ से खत्म करने के लिए इस घरेलू उपचार का इस्तेमाल सप्ताह में दो बार कीजिये|

नोट : बेकिंग सोडा आपकी त्वचा को रूखी बना सकता है, जिससे त्वचा की ऊपरी परत निकलने लगती है और इससे आपको खुजली भी हो सकती है| इस नुस्खे के इस्तेमाल से पहले अपने हाथ की त्वचा में जांच कर लें|

विधि 3: नींबू के रस का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 3 आवश्यक सामग्री

  • नींबू का रस
  • गुलाबजल
  • रुई

नींबू के रस में गुलाबजल मिलाइए

नींबू के रस में गुलाबजल मिलाइए

  • एक छोटे कटोरे में नींबू का रस निचोड़ लीजिये|
  • इसमें समान मात्रा में गुलाबजल मिलाइए|

कील-मुंहासों के लिए नींबू के रस का एक इस्तेमाल ही काफी होता है| यह अतिरिक्त तेल और बैक्टीरिया को बाहर निकालकर रोमछिद्रों को साफ़ करता है|

Advertisements

नींबू का रस एक संवेदनशील त्वचा (सेंसिटिव स्किन) को हानि पहुंचा सकता है| इसलिए इसमें गुलाबजल मिलाना उचित रहेगा| गुलाबजल को भी कील-मुंहासों के लिए एक अच्छा उपचार माना जाता है| यह कील-मुंहासों के घावों को भरकर दाग ख़त्म करता है और त्वचा की रंगत में निखार लाता है|

विधि 3 तैयार मिश्रण
कील-मुंहासों के इलाज के लिए नींबू के रस का उपयोग करें
  • रुई की सहायता से इसे कील-मुंहासों पर लगाइए| आप इसे पूरे चेहरे पर भी लगा सकते हैं|
  • इसे पूरी तरह से सूखने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लीजिये|

इसे सप्ताह में दो से तीन बार दोहराइए|

विधि 4: हल्दी का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 4 आवश्यक सामग्री

  • हल्दी पाउडर – एक छोटा चम्मच
  • चावल का आटा – दो छोटे चम्मच
  • दही – तीन छोटे चम्मच

1. सभी सामग्रियों को आपस में मिला लीजिये

हल्दी पाउडर, चावल का आटा और दही को आपस में मिलाये

  • तीन छोटे चम्मच दही में एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाइए|
  • इसमें दो छोटे चम्मच चावल का आटा डालिए|

हल्दी में जलन ख़त्म करने का गुण पाया जाता है, जो दर्द, सूजन और मुंहासे की लालिमा को भी कम करता है|

चावल के आटे और दही दोनों में त्वचा की रंगत में निखार लाने का गुण पाया जाता है| ये मृत कोशिकाओं को हटाकर रोमछिद्रों को साफ़ करते हैं, जिससे सूजन कम हो जाती है|

आप दही के स्थान पर कच्चे दूध, छाछ या मलाई का भी इस्तेमाल कर सकती हैं| यह मास्क किसी भी प्रकार की त्वचा के लिए बहुत ही सौम्य होता है और इसे पूरे चेहरे पर लगाया जा सकता है|

2. अच्छे से मिलाइए और लगाइए

apply the paste
कील-मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए हल्दी के मास्क को सप्ताह में दो से तीन बार लगाइए
  • सामग्रियों को आपस में मिलाकर एक पेस्ट बना लीजिये|
  • हाथों पर हल्दी के दाग न लगें, इसके लिए मेकअप ब्रश की सहायता से इस मास्क को पूरे चेहरे पर लगा लीजिये|
  • अब इसे पूरी तरह से सूखने दीजिये, फिर गुनगुने पानी से धो लीजिये|
  • यदि आपके चेहरे पर हल्दी के दाग रह गए हैं, तो रुई में कच्चा दूध या छाछ लेकर चेहरा साफ़ कर लीजिये|

कील-मुंहासों और उनके दागों को ठीक करने के लिए हल्दी के इस मास्क को सप्ताह में दो से तीन बार इस्तेमाल कीजिये|

विधि 5: सेब के सिरके का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 5 आवश्यक सामग्री

  • सेब का सिरका
  • पानी

सेब के सिरके में पानी मिलाकर पतला कीजिये

सेब के सिरके में पानी मिलाइए

  • सेब के सिरके में समान मात्रा में पानी मिलाइए|

कील-मुंहासों के लिए यह एक बहुत प्रभावी उपचार है, लेकिन इसमें से तेज गंध आती है| अम्लीय होने के कारण सेब का सिरका बैक्टीरिया को खत्म करता है और अतिरिक्त तेल, धूल व मृत कोशिकाओं को बाहर निकालकर रोमछिद्रों को साफ करता है| इससे भी त्वचा की रंगत में निखार आता है|

Advertisements
विधि 5 तैयार मिश्रण
कील-मुंहासों के रामबाण इलाज के लिए सेब का सिरका लगाइए
  • इस मिश्रण को कील-मुंहासों पर लगाइए|
  • इसे पांच से दस मिनट के लिए कील-मुंहासों पर लगा रहने दीजिये|
  • फिर पानी से चेहरा धोकर तौलिए से सुखा लीजिये|

कील-मुंहासों को खत्म करने के लिए इस उपचार को सप्ताह में दो से तीन बार दोहराइए|

विधि 6: एलोवेरा का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 6 आवश्यक सामग्री

  • एलोवेरा

चेहरे पर एलोवेरा जेल लगाइए

  • एलोवेरा के पत्तों से ताजा जेल निकाल लीजिये| आपको दवा की दुकानों में भी एलोवेरा जेल आसानी से मिल जायेगा, लेकिन पत्तों से ताजा जेल निकालना बेहतर रहता है|
  • इस एलोवेरा जेल को अपने पूरे चेहरे पर लगाइए|
  • इसे आधे घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दीजिये| फिर चेहरे को पानी से धो लीजिये| यदि आप इसे रात में इस्तेमाल करते हैं, तो पूरी रात इसे लगा रहने दीजिये| इससे आपको बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे|
विधि 6 एलोवेरा जेल लगाइए
एलोवेरा जेल के इस्तेमाल से कील-मुंहासों से पाएं छुटकारा

इस उपचार को सप्ताह में तीन या अधिक बार भी इस्तेमाल किया जा सकता है| एलोवेरा जेल बहुत अधिक सौम्य होता है और बिना किसी साइड इफेक्ट के प्रतिदिन इसका इस्तेमाल किया जा सकता है|

एलोवेरा जेल रोगाणुओं को मारने का काम करता है और घाव को जल्दी भरता है| इससे मुंहासे पर हो रही खुजली से राहत मिलती है| मुंहासे ठीक करने के अलावा, यह त्वचा को स्वस्थ और चमकदार भी बनाता है| एलोवेरा के इस्तेमाल से मुंहासे तो ठीक होते ही हैं और साथ-ही-साथ इनके दाग भी नहीं पड़ते हैं|

यदि आप ताजा एलोवेरा जेल पाना चाहते हैं, तो आप घर पर ही एलोवेरा का पौधा लगा सकते हैं| एलोवेरा के पौधे की देखभाल आसानी से की जा सकती है| इसप्रकार से सुन्दरता और स्वास्थ्य की देखभाल के लिए आपको हमेशा ही ताजा एलोवीरा जेल मिल सकता है|

विधि 7: टी-ट्रे तेल का उपयोग

आवश्यक सामग्री:

विधि 7 आवश्यक सामग्री

  • टी-ट्री तेल
  • रुई

टी-ट्री तेल को अपने चेहरे पर लगाइए

विधि 7 मुंहासों पर लगाइए
कील-मुंहासे हटाने के लिए सप्ताह में दो बार टी-ट्रे तेल का इस्तेमाल कीजिये
  • रुई में टी-ट्री तेल की कुछ बूँदें डालिए और इसे कील-मुंहासों पर लगाइए|
  • यह तेल बहुत कोमल त्वचा को हानि पहुंचा सकता है, जिससे आपकी त्वचा में जलन हो सकती है| चेहरे पर इसका इस्तेमाल करने से पहले हाथ की त्वचा पर जांच कर लीजिये|
  • यदि आपकी त्वचा बहुत संवेदनशील है, तो आप इसमें थोड़ा-सा नारियल का तेल मिला सकते हैं|
  • यदि आपकी त्वचा ऑइली है, तो आप इसमें नारियल के तेल की जगह पानी मिलाइए|

कील-मुंहासों को ठीक करने के लिए सप्ताह में दो बार इसका इस्तेमाल कीजिये|

नोट: इस तेल के इस्तेमाल से पहले अपने हाथ की त्वचा में जांच कर लें| टी-ट्री तेल में रोगाणुओं और सूजन को खत्म करने का गुण पाया जाता है, जो इसे और भी अधिक प्रभावी बनाता है|

सुझाव

  • आप जिन भी सामग्रियों (इनग्रीडियंट) या तेलों का उपयोग कर रहे हैं, उनकी सही मात्रा को ध्यान में रखना बहुत जरूरी होता है| जब आप ताज़ी सामग्रियों का इस्तेमाल करते हैं, तो इन्हें एक सप्ताह तक फ्रिज में सुरक्षित रखा जा सकता है| नींबू का रस हमेशा ताजा ही निकालना चाहिए|
  • यदि आपको किसी भी पदार्थ से एलर्जी है, तो आप किसी दूसरे नुस्खे का इस्तेमाल कर सकते हैं|
  • एक अच्छी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें| चेहरे पर नींबू का रस लगाने के बाद 48 घंटों तक धूप से बचें अथवा चेहरा ढककर बाहर निकलें| नींबू के रस से त्वचा बहुत संवेदनशील हो जाती है और सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणें आपकी त्वचा को खराब कर सकती हैं|
  • चेहरे पर बार-बार हाथ न लगाएं और कील-मुंहासों को फोड़ने की कोशिश न करें| इससे मुंहासे बढ़ने लगते हैं |
  • तकिये के खोल को नियमित रूप से धुलें| इससे भी आप काफी हद तक कील-मुंहासों को बढ़ने से रोक सकते हैं|
  • अपने मेकअप ब्रश को साफ़ रखें| गंदे मेकअप ब्रश से आपके चेहरे पर धूल और इसमें जमा बैक्टीरिया लग सकते हैं, जिससे आपकी त्वचा के रोमछिद्र बंद हो सकते हैं और मुंहासे होने की संभावना बढ़ जाती है|
  • अपनी त्वचा में पर्याप्त नमी बनाये रखें| यदि आपकी त्वचा ऑइली है, तो आप एक सौम्य मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें|
  • कैमोमाइल टी, ग्रीन टी और लौंग टी पीना भी कील-मुंहासों को ठीक करने में सहायक होता है| ये चाय एंटी-बैक्टीरियल होने के साथ-साथ सूजन को भी खत्म करती हैं|
  • बेंजोईल परॉक्साइड, एज़ेलिक एसिड और सलिसीलिक एसिड वाले उत्पादों का इस्तेमाल करें| बेंजोईल परॉक्साइड त्वचा को ऑक्सीजन प्रदान करता है, जिससे बैक्टीरिया पनप नहीं पाते हैं, जबकि एज़ेलिक एसिड सूजन कम करता है|
Advertisements