अगर आप आधा दिन अपना पेट पकड़कर बैठे रहे हैं और बाकी आधा दिन शौचालय में बिताया है, तो आपको डायरिया की समस्या है| इसका इलाज करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना चाहिए|

अगर आप अपनी साफ़-सफाई (पर्सनल हाइजीन) रखते हैं और साफ़-सुथरे भोजन का सेवन करते हैं, तो डायरिया आपसे दूर रहता है| लेकिन हमेशा अपने खान-पान को नियंत्रण में रखना मुश्किल होता है और रोगाणु किसी न किसी तरह आपके पेट में जाने का रास्ता खोज ही लेते हैं|

Advertisements

यद्यपि डायरिया हमेशा रोगाणुओं के कारण नहीं होते हैं| यदि कोई भी दवा आपके शरीर के अनुकूल नहीं है या लैक्टोजयुक्त खाद्य पदार्थ आपके लिए उपयुक्त नहीं हैं, तो भी आप डायरिया की चपेट में आ सकते हैं| डायरिया कोई बीमारी नहीं है, यह सिर्फ उन खाद्य पदार्थों की प्रतिक्रिया होता है, जिन्हें आप आसानी से पचा नहीं पाते हैं|

डायरिया होने पर आपको बार-बार मल त्याग के लिए जाना पड़ता है और मल त्याग के काफी पतला होने के कारण आपको ऐसा लगता है, जैसे आपके शरीर की सारी ऊर्जा बाहर निकल गयी हो| डॉक्टर की भाषा में जब एक व्यक्ति को एक दिन में तीन या तीन से अधिक बार मल त्याग के लिए जाना पड़ता है, तो वह डायरिया से पीड़ित होता है|

डायरिया से आसानी से छुटकारा पायें

डायरिया होने पर शरीर के इलेक्ट्रोलाइट्स धीरे-धीरे कम होते जाते हैं| जिससे चक्कर आना या थकान का अनुभव होने से लेकर सदमा लगना और कोमा में जाने जैसी स्थितियां बन सकती हैं|

Advertisements

आम तौर पर डायरिया दो से चार दिनों में खत्म हो जाते हैं| लेकिन यदि डायरिया का सही इलाज नहीं किया गया, तो इससे हमारा जीवन भी खतरे में आ जाता है| डायरिया का इलाज करते समय आपको अपने शरीर को पूरी तरह से हाइड्रेट रखना चाहिए और आपका खान-पान ऐसा होना चाहिए कि वह आसानी से पच जाये और आपको पोषण भी प्रदान करे|

यहाँ हम आपको डायरिया के नौ घरेलू उपचार बता रहे हैं| आप अपने अनुसार किसी भी उपचार को चुन सकते हैं|

विधि 1: ब्रैट (BRAT) का सेवन

ब्रैट के सेवन के लिए आवश्यक सामग्री
डायरिया रोकने के लिए ब्रैट का सेवन कीजिये

ब्रैट (BRAT) का अर्थ है –B बनाना (केला), R राइस (चावल), A एप्पल सॉस, T टोस्टेड ब्राउन ब्रेड| डायरिया होने पर आपका शरीर कमजोर हो जाता है| इसलिए ब्रैट (BRAT) का सेवन करने की सलाह दी जाती है| इन आहारों में ऐसे फाइबर मौजूद होते हैं, जो मल त्याग को ठीक करने और शरीर को स्वस्थ बनाने में सहायक हैं|

केला; पोटैशियम, फाइबर और कैलोरी का एक अच्छा स्रोत होता है, जो डायरिया के कारण कमजोर हो चुके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है| चावल; शरीर के लिए आवश्यक कार्बोहाइड्रेट को पूरा करता है| बिना चीनी मिला एप्पल सॉस; पेक्टिन का एक अच्छा स्रोत होता है, जो मल त्याग को सामान्य करने में सहायक है|

एप्पल सॉस के एक बार सेवन से ही आपके शरीर की प्रतिदिन की विटामिन-सी की आवश्यकता का 80% से भी अधिक को पूरा किया जा सकता है| बिना बटर लगी सादी टोस्टेड ब्राउन ब्रेड का सेवन किसी बीमार व्यक्ति का स्वाद विकसित करने के लिए काफी है| यह आपके शरीर को कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट भी प्रदान करती है|

डीहाइड्रेशन से बचने के लिए ब्रैट (BRAT) आहारों को ओआरएस या अनाजों के सूप के साथ लेना चाहिए| डायरिया से आराम मिलने के बाद 24 घंटों तक इनका सेवन किया जा सकता है|

Advertisements

विधि 2: ओरल रिहाइड्रेशन लवण (ओआरएस)

आवश्यक सामग्री:

ओरल रिहाइड्रेशन लवण के लिए आवश्यक सामग्री

  • पीने का पानी – लगभग एक लीटर
  • चीनी – दो बड़े चम्मच (लगभग 30 ग्राम)
  • नमक – आधा छोटा चम्मच (लगभग 3 ग्राम)

चीनी और नमक को पानी में मिलाएं

नमक और चीनी को पानी से भरे एक बर्तन में डालें

  • एक साफ़ बर्तन में दो बड़े चम्मच चीनी डाल लें|
  • इसमें आधा छोटा चम्मच नमक डाल लें|
  • अब इसमें लगभग एक लीटर पानी डालें|
  • चममच की सहायता से इन्हें अच्छे से मिलाएं ताकि चीनी और नमक; पानी में पूरी तरह से घुल जाये|
  • अब आपका घर पर बना ओआरएस तैयार है|
  • हर दो से पांच मिनट में इस घोल का सेवन करें|

डायरिया होने पर कभी-कभी उल्टियाँ भी आने लगती हैं| इसके कारण शरीर के इलेक्ट्रोलाइट्स कम होते जाते हैं| ओआरएस मुख्य रूप से शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी को पूरा करता है और शरीर को हाइड्रेट रखता है|

Advertisements

घर पर ओआरएस बनाने में साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए, ताकि कोई इन्फेक्शन (संक्रमण) न हो|

बहुत छोटे बच्चों को यह घोल चम्मच से पिलाना चाहिये| जब तक आपको थकान, कमजोरी या उल्टियाँ आती रहें, तब तक इसक घोल का सेवन करते रहें|

घर पर ओआरएस बनाना बहुत आसान है
डायरिया से बचने के लिए ओआरएस का सेवन करें

विधि 3: चावल का पानी

चावल के पानी का सेवन करें
डायरिया से निजात पाने के लिए चावल के पानी का सेवन कीजिये
  • आधा कप (लगभग 100 ग्राम) सफ़ेद चावल ले लीजिये|
  • इसमें लगभग एक लीटर पीने का पानी मिलाइए|
  • इसे गैस चूल्हे पर चढ़ाकर उबलने दीजिये|
  • उबाल आने के बाद गैस धीमी कर दीजिये और इसे बीस मिनट तक पकने दीजिये|
  • फिर एक अलग बर्तन में चावल में से पानी निकाल लीजिये|
  • चावल के पानी में थोड़ा-सा नमक मिलाइए|
  • अब इसे ठंडा होने दीजिये और फिर धीरे-धीरे इसका सेवन कीजिये|

इस स्टार्चयुक्त चावाल के पानी में भरपूर मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट्स पाए जाते हैं| डायरिया के लिए यह घरेलू उपचार ओआरएस के जितना ही प्रभावी होता है| डायरिया के पहले लक्षण से ही दिन में कई बार इस पानी के सेवन से आप डायरिया से तुरंत छुटकारा पा सकते हैं|

विधि 4: गाजर का सूप

आवश्यक सामग्री:

गाजर का सूप बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • कटी हुई गाजर – लगभग 500 ग्राम
  • पानी – आधे कप से थोड़ा ज्यादा (लगभग 150 मिली0)
  • नमक

1. पानी और गाजर को एक बर्तन में डालें

कटी हुई गाजर और पानी को एक बर्तन में डालें

Advertisements
  • एक बर्तन में आधे कप से थोड़ा ज्यादा पानी डालकर गैस पर चढ़ा दीजिये|
  • इसमें काटी गयी गाजर मिला दें|

किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन (संक्रमण) से बचने के लिए गाजर को छीलने से पहले अच्छी तरह से धो लें| छिली हुई गाजर को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें|

गाजर में पेक्टिन पाया जाता है| यह एक घुलनशील फाइबर होता है, जो आँतों में मौजूद अतिरिक्त तरल पदार्थ को सोखने में सहायक है| ये घुलनशील फाइबर डायरिया के कारण शरीर के खोये हुए पोषक तत्वों को पूरा करते हैं|

2. गाजर को पीसने योग्य पका लें

गाजर को पानी में उबलने दें

  • पानी में उबाल आने दें|
  • अब गैस को धीमा कर दें|
  • गाजर को उबालते रहें, ताकि आप गाजर को बर्तन में ही पीस सकें|
  • अब लकड़ी की चम्मच की सहायता से गाजर को बर्तन में ही पीस लें|

3. इसमें नमक मिलाएं

अब पिसी हुई गाजर में नमक मिलाएं

  • गाजर के सूप में स्वादानुसार नमक मिलाएं|
  • अगर यह सूप आपको बेस्वाद लगता है, तो आप इसमें हल्की-सी मिर्च भी मिला सकते हैं|
  • आप सूप में थोड़ी-सी धनिया पत्ती भी मिला सकते हैं|

अब गाजर का सूप तैयार है| सूप को धीरे-धीरे पियें, ताकि यह आपके पेट को आराम पहुंचाए|

आप डायरिया के घरेलू उपचार के लिए गाजर के सूप का सेवन प्रतिदिन भी कर सकते हैं|

गाजर का सूप तैयार है
डायरिया के इलाज के लिए गाजर के सूप का सेवन कीजिये

विधि 5: सेब का सिरका

आवश्यक सामग्री:

सेब का सिरके सेवन के लिए आवश्यक सामग्री

  • सेब का सिरका – एक से दो बड़े चम्मच (लगभग 30 मिली0)
  • पीने का पानी – एक गिलास (लगभग 250 मिली0)

सेब के सिरके को पानी में मिलाएं

पानी में सेब का सिरका डालें

  • एक गिलास में पीने का पानी ले लें|
  • इसमें एक से दो बड़े चम्मच सेब का सिरका मिलाएं|
  • इन्हें अच्छे से मिला लें|
  • दिन में तीन बार इस मिश्रण का सेवन करें|

सेब का सिरका; डायरिया के रोगाणुओं को खत्म करने का काम करता है और पेट को आराम पहुंचाता है| यह जी मिचलाना, पेट में ऐंठन और मरोड़ को ठीक करने में भी सहायक है|

सेब का सिरका डायरिया का एक घरेलू उपचार है, जो आपके पेट का pH स्तर सुधारने और सामान्य रखने के लिए फायदेमंद होता है|

सेब का सिरका पेट के PH स्तर को नियंत्रित रखता है
डायरिया खत्म करने के लिए सेब के सिरके का सेवन कीजिये

विधि 6: दही (योगर्ट)

दही (योगर्ट) के सेवन से डायरिया से निजात पाया जा सकता है
डायरिया से बचने के लिए दही (योगर्ट) एक अच्छा उपाय है

डायरिया से पीड़ित लोगों के लिए दही (योगर्ट) एक अच्छा विकल्प है| दही (योगर्ट) में प्रोबायोटिक्स पाए जाते हैं| प्रोबायोटिक्स अच्छे बैक्टीरिया होते हैं, जो आपके पेट को हानिकारक रोगाणुओं से बचाते हैं|

शरीर में किसी भी प्रकार का असंतुलन बनाये बिना पाचन तंत्र को नियमित करने के लिए दही (योगर्ट) एक प्राकृतिक और स्वास्थ्यवर्धक तरीका होता है|

Advertisements

दिन में दो बार एक कप (लगभग 200 ग्राम) दही (योगर्ट) का सेवन करें| यदि संभव हो, तो आप ग्रीक योगर्ट भी ले सकते हैं| इसमें साधारण दही (योगर्ट) की तुलना में अधिक प्रोबायोटिक पाए जाते हैं|

विधि 7: अदरक और शहद की चाय

आवश्यक सामग्री:

अदरक और शहद की चाय बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • अदरक, छीलकर पतले-पतले टुकड़ों में काटी हुई – एक से दो इंच
  • पानी – एक कप (लगभग 250 मिली0)
  • शहद – आधा से एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम)

1. एक बर्तन में पानी और अदरक डालें

पानी और अदरक को एक बर्तन में उबलने के लिए रखें

  • एक से दो इंच की अदरक को छील लें|
  • इसे पतले-पतले टुकड़ों में काट लें|
  • एक बर्तन में एक कप पानी डालकर इसमें अदरक के टुकड़े डाल दें|

अदरक आपके पाचन को भी ठीक करती है और आप नियमित रूप से मल त्याग कर पाते हैं| यह डायरिया का एक घरेलू उपचार है|

2. इसमें उबाल आने दें

इस पानी में उबाल आने दें

  • गैस चालू कर दें|
  • अब इसमें उबाल आने दें|
  • फिर गैस धीमी कर दें और दो मिनट तक पकने दें|

3. चाय को छानकर शहद मिला लें

तैयार चाय में शहद मिला लें

  • एक कप में चाय छान लें|
  • इसमें आधे से एक छोटे चम्मच तक शहद मिला लें|

सही मात्रा में लिया गया शहद पाचन तंत्र को आराम पहुंचाता है और पेट के हानिकारक रोगाणुओं को बाहर निकालने में भी सहायक है|

अब तैयार चाय का धीरे-धीरे सेवन कीजिये| डायरिया के लक्षणों को कम करने के लिए एक दिन में एक कप चाय का ही सेवन करें|

अदरक की चाय तैयार है
डायरिया के लक्षणों को कम करने के लिए अदरक की चाय का सेवन करें

विधि 8: एक्टिवेटेड चारकोल

एक्टिवेटेड चारकोल शरीर के खराब पदार्थों को बाहर निकालता है
एक्टिवेटेड चारकोल का सेवन गंभीर डायरिया में आराम देता है

पाचन संबंधी बीमारियों को ठीक करने के लिए प्राचीन काल से ही एक्टिवेटेड चारकोल का उपयोग किया जाता रहा है| यह शरीर के खराब पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है| यह आपके लिवर की भी रक्षा करता है|

डायरिया के लक्षणों को कम करने के लिए एक्टिवेटेड चारकोल का सेवन कीजिये| एक्टिवेटेड चारकोल कैप्सूल के रूप में बाजार में आसानी से मिल जायेगा|

  • एक गिलास (लगभग 250 मिली0) पानी में एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) एक्टिवेटेड चारकोल मिलाएं|
  • दिन में एक बार इनके मिश्रण का सेवन करें|
  • अगर आपके पास एक्टिवेटेड चारकोल के कैप्सूल हैं, तो पानी के साथ चार कैप्सूल का सेवन करें|
  • गंभीर डायरिया से पीड़ित होने पर आप दो से चार घंटों के अंतर में इसका सेवन कर सकते हैं|

विधि 9: हल्दी और गर्म पानी

आवश्यक सामग्री:

हल्दी और गर्म पानी के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • हल्दी पाउडर – एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम)
  • गर्म पानी – एक कप (लगभग 250 मिली0)

पानी में हल्दी मिलाएं

हल्दी पाउडर को पानी में मिलाएं

  • एक कप गर्म पानी ले लें|
  • इसमें एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं|
  • इन्हें अच्छे से मिला लें|
  • डायरिया के लिए दिन में एक बार इस मिश्रण का सेवन करें|
  • अगर आप इसके कड़वे स्वाद के कारण इसका सेवन नहीं कर पा रहे हैं, तो आप हल्दी पाउडर को सूखा ही मुंह में रखकर गर्म पानी पी सकते हैं|

हल्दी एक अच्छी एंटीसेप्टिक होती है तथा यह बैक्टीरिया के कारण पाचन तंत्र की परेशानी में आराम पहुंचाती है| यह पेट की तकलीफों को भी तुरंत ठीक करने में सहायक है|

हल्दी के गर्म पानी का सेवन कीजिये
हल्दी के पानी का सेवन पाचन तंत्र को आराम पहुंचाकर डायरिया से निजात दिलाता है

सुझाव 

  • अगर तीन दिनों तक आपको डायरिया बनी रहती है, या डायरिया के साथ-साथ कोई और लक्षण भी दिखते हैं; जैसे मल त्याग में खून आना, तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए|
  • ब्रैट (BRAT) आहार का नया रूप भी काफी लोकप्रिय हो रहा है: ब्रैटी (BRATY)| यहाँ Y का अर्थ है- योगर्ट (दही) और ब्रैट (BRATT); यहाँ दूसरे T का अर्थ है – टी (सादी और फीकी चाय)|
  • कम मात्रा में शहद और हल्दी का सेवन डायरिया को ठीक करने के लिए लाभकरी होता है| जबकि अधिक मात्रा में इनके सेवन से डायरिया और भी गंभीर हो सकता है| इसलिए जितनी मात्रा का सेवन करने के लिए बताया जाये, उतनी ही मात्रा का सेवन करें|
  • दूध या दही के साथ एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) हल्दी पाउडर का सेवन किया जा सकता है| जिन लोगों को लैक्टोज से एलर्जी है, उन्हें डेयरी उत्पादों का सेवन नहीं करना चाहिए|
  • केफिर; खमीरयुक्त दूध से बना एक पेय होता है| जिन लोगों को लैक्टोज से एलर्जी है, वे लोग केफिर का सेवन कर सकते हैं| केफिर लैक्टोज मुक्त होता है, लेकिन इसमें प्रोबायोटिक अधिक मात्रा में पाए जाते हैं| यही कारण है कि डायरिया के उपचार में केफिर का उपयोग किया जाता है|
  • अगर आपको अदरक नहीं मिल पा रही है, तो आप अदरक पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं|
Advertisements