अगर आपको रात में सोते समय पैरों में ऐंठन होने की समस्या है, तो उस समय आप पैरों की ऐंठन के दर्द से कराहते रह जाते हैं| पैरों में ऐंठन होने पर दर्द के साथ-साथ सूजन भी आ जाती है| आपको इस ऐंठन (दर्द) से कुछ सेकंड से लेकर आधे घंटे तक जूझना पड़ सकता है| कुछ प्राकृतिक उपचारों को अपनाकर आप पैरों में होने वाली ऐंठन (दर्द) से राहत पा सकते हैं|

पैरों में ऐंठन होने पर व्यायाम करें

Advertisements

अक्सर रात में सोते समय पैरों में ऐंठन होती है, लेकिन यह ऐंठन दिन के किसी भी समय हो सकती है| कई बार तो हमें पैरों में ऐंठन होने का कारण भी नहीं पता होता है| डीहाइड्रेशन और अधिक शारीरिक श्रम करने से पैरों की मांसपेशियों में खिंचाव होना ही इसके मुख्य कारण हैं|

रात में पैरों में ऐंठन होने से नींद भी खराब होती है| किसी प्रकार के नुकसान से बचने के लिए ऐंठन के कारण होने वाले दर्द से तुरंत छुटकारा पाने का उपचार ढूंढना आवश्यक हो गया है| पैर की ऐंठन के गंभीर मामलों में डॉक्टर; दवाओं से आपका इलाज करेंगे| जबकि आप पैरों की ऐंठन के लिए दवा नहीं खाना चाहते हैं|

पैरों की ऐंठन से तुरंत छुटकारा पाने के लिए कुछ प्राकृतिक उपचार आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं| जबकि कुछ उपचारों के इस्तेमाल से आप भविष्य में होने वाली पैरों की ऐंठन से भी बच सकते हैं|

यहाँ पैरों की ऐंठन से तुरंत छुटकारा पाने के लिए छह प्राकृतिक घरेलू उपचार बताये जा रहे हैं|

Advertisements

विधि 1: स्ट्रेचिंग

पैरों को सिकोड़कर बैठे रहने से पैरों में ऐंठन हो सकती है, इससे छुटकारा पाने के लिए स्ट्रेचिंग एक प्राकृतिक तरीका है| आप रात में होने वाली पैरों की ऐंठन (दर्द) से बचने के लिए सोने से पहले भी स्ट्रेचिंग कर सकते हैं|

# तौलिये की सहायता से स्ट्रेच

पैरों को तौलिये से स्ट्रेच कीजिये
तौलिये से पैरों को स्ट्रेच करने से ऐंठन से आराम मिलता है

इस स्ट्रेच के लिए, आप एक तौलिया या स्कार्फ; जो भी आपको आसानी से मिल जाये, उसका उपयोग कीजिये| यह एक आसान स्ट्रेच होता है| जब भी आपको पैरों में ऐंठन हो रही हो, तो इस स्ट्रेच को किसी का सहारा लिए बिना ही किया जा सकता है|

  • पैरों को अपने सामने की ओर फैलाकर बैठ जाइये|
  • पैरों के पंजों को ऊपर की ओर सीधा रखिये|
  • एक तौलिये के दोनों किनारों को हाथों से पकड़कर इसे पैरों के तलवे में लगाइए|
  • तौलिये को हल्के हाथों से खींचिए, जिससे आपका पैर ऊपर की ओर उठे|

पैरों की ऐंठन (दर्द) से राहत पाने के लिए दिन में कई बार ऐसा कीजिये| इससे पैरों की मांसपेशियों में खिंचाव आएगा| आपको ऐसा दोनों पैरों के साथ करना है|

# टो स्ट्रेच (पैर के अंगूठे को स्ट्रेच करना)

पैर के अंगूठे को स्ट्रेच कीजिये
पैर के अंगूठे को स्ट्रेच करने से ऐंठन से होने वाला दर्द कम होता है

जब कभी भी रात में सोते समय आपके पैरों में ऐंठन हो, तो इस स्ट्रेच को आप बिस्तर पर बैठकर आसानी से कर सकते हैं|

बैठकर, पैरों को अपने सामने सीधा फैला लीजिये

  • जब तक आपके पैरों की मांसपेशियों को आराम नहीं मिल जाता, तब तक पैर के अंगूठे को थोड़ा-सा झुकाइए फिर सीधा कीजिये| ऐसा कई बार कीजिये|

विधि 2: मालिश

आम तौर पर ऐंठन होने का एक कारण मांसपेशियों में रक्त प्रवाह ठीक से न होना होता है, उन मांसपेशियों में ऑक्सीजन व अन्य महत्त्वपूर्ण पोषक तत्व नहीं पहुँच पाते हैं| मालिश करने से रक्त संचार ठीक से होने लगता है, जिससे मांसपेशियों को काफी आराम मिलता है| नियमित मालिश करने से आप भविष्य में होने वाली पैरों की ऐंठन से बच सकते हैं|

पैरों पर मालिश कीजिये
पैरों पर मालिश करने से ऐंठन से राहत मिलती है
  • पैरों में जिस जगह पर ऐंठन हो रही है, वहां हाथों की उँगलियों से हल्के से मालिश कीजिये| इससे आपको तुरंत आराम मिल जायेगा|
  • अगर आप चाहें, तो एसेंशियल ऑयल से भी मालिश कर सकते हैं|
  • अगर आपके पैरों में बहुत तेज दर्द हो रहा है और अक्सर ही ऐसा दर्द रहता है, तो किसी और से अपने पैरों में मालिश करवाइए| आप जितना दबाव सह सकते है, उतना ही दबाव देकर मालिश करवाइए|

आवश्यकतानुसार प्रतिदिन अपने पैरों में मालिश कीजिये|

Advertisements

विधि 3: हॉट पैड के बाद कूल पैड

हॉट पैड के बाद कूल पैड के इस्तेमाल से आपको पैरों की ऐंठन से होने वाले दर्द में आराम मिलेगा|

नोट: डायबिटीज (मधुमेह) या माइग्रेन से पीड़ित लोगों को इस विधि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इस विधि के इस्तेमाल से प्रायः पैर सुन्न पड़ जाते हैं|

जिस जगह पर ऐंठन हो रही है, वहां पर हीटिंग पैड रखने से रक्त प्रवाह तेजी से होने लगता है, जिससे मांसपेशियों को आराम मिलता है| कूल पैड दर्द वाली जगह को सुन्न कर देता है, जिससे सूजन कम होती जाती है|

हीट और कूल पैड का इस्तेमाल कीजिये
हीट और कूल पैड के इस्तेमाल से पैरों की ऐंठन को कम किया जा सकता है
  • ऐंठन वाली जगह पर 15 मिनट अथवा जब तक मांसपेशियों को आराम नहीं मिल जाता तब तक हीटिंग पैड रखिये|
  • फिर सूजन के कम होने तक कूल पैड रखिए| अगर आप आइस पैक का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो पैरों पर एक पतला कपड़ा रखकर ही आइस पैक को इसके ऊपर रखें|
  • मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन का उपचार करते समय अधिक गर्म या अधिक ठन्डे वातावरण में जाने से बचें|

पैरों की ऐंठन (दर्द) से राहत पाने के लिए इन उपचारों को आवश्यकतानुसार प्रतिदिन अपनाइए|

विधि 4: पैरों को एप्सम साल्ट के पानी में भिगोना

मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने के लिए पैरों को एप्सम साल्ट के पानी में भिगोना एक अच्छा तरीका है| एप्सम साल्ट का रासायनिक नाम मैग्नीशियम सल्फेट है| मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने के लिए मैग्नीशियम को सबसे अच्छा माना जाता है और इसे गर्म पानी में मिलाकर इस्तेमाल करने से भी पैरों की ऐंठन में काफी आराम मिलता है| यह उपचार न केवल पैरों की ऐंठन ठीक करने में सहायक है, बल्कि भविष्य में होने वाली पैरों की ऐंठन को रोकने में भी सहायक है|

Advertisements
एप्सम साल्ट के पानी में पैरों को रखिये
एप्सम साल्ट मांसपेशियों को आराम पहुंचाकर ऐंठन कम करता है
  • एक बाथटब में गर्म पानी भर लें| इसमें आधा से एक कप (लगभग 200 ग्राम) एप्सम साल्ट मिलाएं|
  • मांसपेशियों में ऐंठन होने पर पैरों को एप्सम साल्ट एक इस गर्म पानी में रखने से काफी आराम मिलता है|
  • सोने से पहले इस पानी के इस्तेमाल से पूरे शरीर को आराम मिलता है जिससे रात में होने वाली ऐंठन से छुटकारा मिल जाता है| ऐसा करने से आपको गहरी नींद आती है|

पैरों की ऐंठन (दर्द) से राहत पाने के लिए जब तक आपको पूरा आराम नहीं मिल जाता, इसका इस्तेमाल करते रहिये|

विधि 5: एक्यूप्रेशर

शरीर के कई प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए परंपरागत चीनी चिकित्सा में एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल किया जाता रहा है| शरीर के किसी एक भाग पर ध्यान केन्द्रित करके आप पैरों की कष्टकारी ऐंठन से आराम पा सकते हैं| यह ध्यान रखिये कि आपको तेजी से दबाव बनाना है, लेकिन इतनी तेजी से भी नहीं कि आप अपने को नुकसान ही पहुंचा लें| नीचे बताई गयी जगहों में से एक या दोनों जगह पर दबाव बनाइये|

पैरों की ऐंठन कम करने वाली जगहों पर एक्यूप्रेशर दीजिये
एक्यूप्रेशर देकर पैरों की ऐंठन को कम किया जा सकता है
  • अपने हाथ की पहली उंगली को पैर के अंगूठे और उसके बगल वाली उंगली के बीच रखिये| अपनी उंगली से उस जगह पर कुछ मिनटों तक दबाव बनाते रहिये|
  • अपने हाथ की पहली उंगली को नाक और ऊपरी होंठ के बीच रखिये| अपनी उंगली को इस प्रकार से रखिये कि यह नाक के अधिक पास रहे और ऊपरी होंठ से थोड़ा दूर रहे| अपनी उंगली से कुछ मिनटों तक धीरे-धीरे दबाव बनाते रहिये|

आवश्यकतानुसार इस उपचार का उपयोग कीजिये|

विधि 6: सेब का सिरका

पैरों की ऐंठन से छुटकारा पाने के लिए सेब का सिरके का सेवन कीजिये| सेब के सिरके का सेवन शरीर में सोडियम, मैग्नीशियम और पोटैशियम जैसे खनिज तत्वों की पूर्ति करने में भी सहायक है|

सेब का सिरका शरीर के अन्य तरल पदार्थों को संतुलन में रखता है और डीहाइड्रेशन से बचाता है| डीहाइड्रेशन भी पैरों में ऐंठन होने का एक कारण होता है|

सेब के सिरके को पानी में मिलाइए
पैरों की ऐंठन रोकने के लिए सेब के सिरके का सेवन कीजिये
  • एक गिलास (लगभग 250 मिली0) गर्म पानी में एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0) सेब का सिरका मिलाकर प्रतिदिन इसका सेवन करें| आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं|
  • पैरों की ऐंठन आरंभ होते ही सेब के सिरके से मालिश कीजिये|

सुझाव

  • कई बार ऊंची हील पहनने से या अधिक कसे जूते पहनने से आपके पैरों में ऐंठन हो सकती है| उचित नाप के जूते और समतल चप्पलें पहनें| पतावा (इन्सोल) वाले जूतों का ही चयन करें|
  • सोते समय घुटनों के नीचे तकिया रखें| ऐसा करने से रात के समय पैरों में होने वाली ऐंठन से छुटकारा मिलेगा|
  • शरीर में पानी की कमी होने के कारण पैरों में ऐंठन होना एक आम समस्या है क्योंकि डीहाइड्रेशन से शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी हो जाती है| डीहाइड्रेशन और पैरों की ऐंठन से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पियें|
  • शरीर में सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम की कमी होने से पैरों में बार-बार ऐंठन होती रहती है| इस कमी को पूरा करने के लिए इन खनिज तत्वों को अपने भोजन में शामिल कीजिये|आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर इनके सप्लीमेंट भी ले सकते हैं|
  • ऐंठन वाली जगह पर लौंग के गर्म तेल से मालिश करने से भी आराम मिलता है| लौंग का तेल सूजन कम करने में सहायक है, जिससे दर्द में भी आराम मिलता है|
  • सोत समय अपने पैर के पास गद्दे के खोल (कवर) के नीचे साबुन रखना भी एक प्रभावी उपचार माना जाता है|
  • पैरों की ऐंठन से छुटकारा पाने के लिए अरोमाथेरेपी का भी इस्तेमाल किया जाता है| अपने पैरों पर पसंदीदा सुगन्धित तेलों से मालिश कीजिये|

Advertisements
Advertisements