किसी भी व्यक्ति को किसी भी समय पेट दर्द हो सकता है| पेट दर्द आपके बने-बनाये प्लान को बर्बाद कर सकता है| कुछ लोगों को हल्का पेट दर्द होता है, जो थोड़े समय में अपने आप ही खत्म हो जाता है| लेकिन कुछ लोगों को गंभीर पेट दर्द की समस्या होती है, जिसके लिए उन्हें डॉक्टर के पास जाना पड़ता है|

नीचे पेट दर्द के कुछ कारण बताये जा रहे हैं और इन्हीं के अनुसार इसके इलाज भी अलग-अलग होते हैं| कुछ सरल घरेलू उपचारों का उपयोग करके आप घर पर ही पेट दर्द से छुटकारा पा सकते हैं|

Advertisements

सरल घरेलू उपचारों से घर पर पेट दर्द का इलाज कीजिये

Contents

पेट दर्द के कारण

अपच और  बदहजमी पेट दर्द होने के सामान्य कारण हैं| पेट दर्द होने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं, जैसे:

  • पेट में बनने वाली गैस
  • कब्ज
  • भूख से ज्यादा खा लेना
  • खराब खाना खाने से हुई बीमारी (फूड पॉइज़निंग)
  • किसी भोजन से एलर्जी
  • लैक्टोज का ग्रहण न होना
  • शरीर में कभी-कभी बहुत अधिक अम्ल बन जाना| इसे गैस्ट्रोफेगल रीफ्लक्स डिजीज़ (जीईआरडी) कहा जाता है|
  • पेट का इन्फेक्शन (संक्रमण)
  • पेट में जलन होना| इसे गैस्ट्राइटिस कहा जाता है|
  • इरीटेबल बाउल सिंड्रोम (आईबीएस)

पेट दर्द के लक्षण

  • पेट में हल्का या गंभीर दर्द
  • पेट में ऐंठन
  • जी मिचलाना
  • डायरिया
  • पेट फूलना
  • उल्टी आना

पेट दर्द के घरेलू उपचार

पेट दर्द के अधिकांश मामले गंभीर नहीं होते हैं| इसलिए प्राकृतिक घरेलू उपचारों की सहायता से पेट दर्द का इलाज किया जा सकता है| अगर आपको अपच के कारण पेट दर्द हो रहा है, तो आप रसोई में मौजूद सामानों से इसका उपचार कर सकते हैं| घरेलू उपचारों की एक या दो खुराक लेने पर पेट दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है|

लेकिन अगर आपको घरेलू उपचारों के इस्तेमाल से कोई लाभ नहीं होता है, तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिये| यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है|

Advertisements

यहाँ पेट दर्द से छुटकारा पाने के छह घरेलू नुस्खे बताये जा रहे हैं, जिनके इस्तेमाल से आप आसानी से घर पर ही पेट दर्द का इलाज कर सकते हैं|

विधि 1: सेब का सिरका

सेब का सिरका पाचन को बढ़ावा देता है| इसमें पाया जाने वाल पेक्टिन पूरे जठर तंत्र (गैस्ट्रोइन्टेस्टनल ट्रैक्ट) को आराम पहुंचाता है और पेट में मरोड़, गैस, पेट फूलना व जी मिचलाना जैसे लक्षणों में राहत देता है|

सेब के सिरके के नियमित सेवन से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, पाचन में सुधार आता है और शरीर का pH स्तर संतुलित रहता है|

सेब के सिरके में पानी मिलाकर इसका सेवन कीजिये

पानी में सेब का सिरका मिलाकर इसका सेवन कीजिये
पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए सेब के सिरके का सेवन कीजिये
  • एक कप (लगभग 250 मिली0) गुनगुने पानी में दो छोटे चम्मच (लगभग 10 मिली0) सेब का सिरका डालिए|
  • आप गुनगुने पानी की जगह सादे पानी, हर्बल चाय या रस (जूस) का भी इस्तेमाल कर सकते हैं|
  • इन्हें अच्छी तरह से मिला लीजिये|
  • सेब के सिरके के सेवन से एक घंटे में ही पेट दर्द में आराम मिल जाएगा|

दिन में दो बार खाना खाने के बाद सेब के सिरके के पेय का सेवन कीजिये| एक सप्ताह तक इसके सेवन से पेट के इन्फेक्शन (संक्रमण) या पेट की अन्य समस्याओं से रोकथाम की जा सकती है| मासिक धर्म (पीरियड्स) के दौरान पेट की ऐंठन कम करने के लिए सेब का सिरका काफी सहायक होता है|

अगर आपका पेट लगातार खराब बना रहता है, तो हर बार खाना खाने के बाद एक गिलास सेब के सिरके के सेवन की आदत बनाइये| यह पेट दर्द का घरेलू उपचार है|

विधि 2: बेकिंग सोडा

पेट दर्द में आराम देने के लिए बेकिंग सोडा एंटासिड की भांति कार्य करता है| बेकिंग सोडा लगभग सभी के घरों में आसानी से मिल जाता है| यह पेट में पहुंचकर रायानिक अभिक्रिया के द्वारा कार्बन डाई ऑक्साइड बनाता है, जिससे आपको डकार आ जाती है| यह पेट दर्द, गैस और पेट फूलने जैसे लक्षणों के इलाज में सहायक है|

Advertisements

आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेने का बाद ही बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करना चाहिए|

नोट: अगर आप किसी अन्य बीमारी से पीड़ित हैं, तो आपको पेट दर्द के इलाज के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए| अगर आप अपने भोजन में सोडियम; जैसे नमक को शामिल नहीं करते हैं, तो आपको बेकिंग सोडा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए|

1. बेकिंग सोडा को पानी में डालिए

पानी में बेकिंग सोडा डालिए

  • एक कप (लगभग 250 मिली0) पानी में एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) बेकिंग सोडा डालिए|

2. अच्छे से मिलाकर मिश्रण का सेवन कीजिये

पानी में बेकिंग सोडा को अच्छे से मिला लीजिये
बेकिंग सोडा के पेय से पेट दर्द से तुरंत आराम पाइए
  • बेकिंग सोडा को पानी में अच्छी तरह से मिला लीजिये| तैयार बेकिंग सोडा पेय का सेवन कीजिये|
  • इसके सेवन से आपको डकार आ जायेगी और पेट दर्द, पेट फूलने जैसी समस्याओं में तुरंत आराम मिलेगा|
  • अगर आवश्यक हो, तो आप हर चार घंटे में बेकिंग सोडा के पेय का सेवन कर सकते हैं| लेकिन आपको एक दिन में पांच छोटी चम्मच (लगभग 25 ग्राम) से अधिक बेकिंग सोडा का सेवन नहीं  करना चाहिए|
नोट: छह साल से कम उम्र के बच्चों को बेकिंग सोडा पेय नहीं दिया जाना चाहिए|

विधि 3: कोक का सेवन

हाँ, आपने सही पढ़ा| आप अपनी पसंदीदा कोका कोला के सेवन से एसिडिटी के कारण होने वाले हल्के पेट दर्द से निजात पा सकते हैं| एक गिलास कोका कोला के सेवन से पेट में बनने वाली गैस कम हो जाती है  और इस प्रकार से जी मिचलाना और पेट दर्द में आराम मिलता है|

एक गिलास कोका कोला का सेवन कीजिये

कोका कोला का सेवन कीजिये
कोका कोला से पेट में बनने वाली गैस से तुरंत आराम मिलता है
  • खाना खाने के बाद एक गिलास (लगभग 250 मिली0) कोका कोला पीजिये| इससे आपको एक घंटे में ही पेट में बनने वाली गैस और पेट दर्द से निजात मिल जाएगा| अगर आवश्यक हो, तो आप फिर से कोका कोला पी सकते हैं|
नोट: कोका कोला को हमेशा खाना खाने के बाद ही पीना चाहिए क्योंकि खाली पेट कोका कोला पीने से पेट दर्द बढ़ सकता है|

विधि 4: जिन्जर एल

जिन्जर एल पेट दर्द से छुटकारा पाने का एक घरेलू नुस्खा है| आप बड़ी आसानी से घर पर जिन्जर एल बना सकते हैं|

Advertisements

अदरक, चीनी और सोडा वाटर से बना जिन्जर एल पेट दर्द कम करने में सहायक होता है| डायरिया और उल्टी आने के कारण शरीर से बहुत पानी निकल जाता है, जिन्जर एल पानी की इस कमी को भी पूरा करने में सहायक है|

आवश्यक सामग्री:

जिन्जर एल बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • छीलकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काटी गयी अदरक (पाचन में सहायक) – एक चौथाई कप (लगभग 32 ग्राम)
  • चीनी – एक चौथाई कप (लगभग 32 ग्राम)
  • नींबू (पेट में बनने वाले एसिड को बेअसर कर देता है) – आधा
  • सोडा वाटर (डकार लाने में सहायक) – एक चौथाई कप (लगभग 60 मिली0)
  • पानी – दो कप (लगभग आधा लीटर)

1. पानी और अदरक को उबालिए

अदरक और पानी को उबालिए

  • एक बर्तन (पैन) में एक कप (लगभग 250 मिली0) पानी डालिए|
  • इसमें एक चौथाई कप कटी हुई अदरक डालिए|
  • अब गैस चालू करके इसे उबालिए|

2. अदरक के पानी को छान लीजिये

एक गिलास में अदरक के पानी को छान लीजिये

  • एक गिलास में अदरक के पानी को छानकर अलग रख दीजिये|

3. पानी में चीनी डालकर उबालिए

चीनी को पानी में डालकर उबालिए

Advertisements
  • एक बर्तन (पैन) में एक कप (लगभग 250 मिली0) पानी डालिए|
  • इसमें एक चौथाई कप चीनी डालिए|
  • अब गैस चालू करके इसमें उबाल आने दीजिये|
  • फिर गैस धीमी करके इसे दो से तीन मिनट तक पकने दीजिये|
  • अब इसे एक कटोरी में निकाल लीजिये|

4. सभी पदार्थों को मिलाकर तैयार जिन्जर एल का सेवन करें

सभी पदार्थों को मिलाकर जिन्जर एल बनायें
जिन्जर एल के सेवन से पेट दर्द से तुरंत निजात पाया जा सकता है
  • अदरक के पानी को एक गिलास में डाल लीजिये|
  • इसमें चीनी का मिश्रण डालिए|
  • अब इसमें एक चौथाई कप सोडा वाटर डालिए|
  • इसमें आधा नींबू निचोड़कर इसका सेवन कीजिये|

जिन्जर एल के सेवन से आपको दस से पंद्रह मिनट में ही आराम मिल जायेगा| अगर अब भी आपको पेट दर्द से निजात नहीं मिलता है, तो दिन में तीन गिलास जिन्जर एल का सेवन कीजिये|

आप अधिक मात्रा में जिन्जर एल बनाकर फ्रिज में रख सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर इसका सेवन कीजिये| यह पेट दर्द का घरेलू उपचार होता है|

विधि 5: नींबू का पानी

अगर आपको अपच के कारण पेट दर्द हो रहा है, तो नींबू का पानी आपके लिए काफी उपयुक्त होता है| नींबू में पाया जाने वाला साइट्रिक एसिड पाचक रसों के स्राव को बढ़ावा देता है, जिससे भोजन आसानी से पच जाता है|

नींबू आपके शरीर को हाइड्रेट रखता है और शरीर के खराब पदार्थों को बाहर निकालने में सहायक है|

नींबू के रस को गर्म पानी में मिलाकर इसका सेवन कीजिये

गर्म पानी में नींबू का रस मिलाइए
नींबू पानी के सेवन से पेट दर्द का इलाज कीजिये
  • एक कप (लगभग 250 मिली0) गर्म पानी में एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0) नींबू का ताजा रस डालिए|
  • आप नींबू पानी का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें थोड़ा-सा शहद भी डाल सकते हैं|
  • हर बार खाना खाने के बाद नींबू पानी का सेवन कीजिये| इससे एक से दो दिनों में पेट दर्द के लक्षणों में आराम मिलेगा|

विधि 6: हर्बल चाय

पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए हर्बल चाय का सेवन किया जा सकता है| हर्बल चाय हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छी मानी जाती है|

# पेपरमिंट चाय

पेट दर्द और जी मिचलाने से राहत के लिए पेपरमिंट चाय काफी लोकप्रिय घरेलू नुस्खा है| पेपरमिंट की पत्तियों में पाया जाने वाला मेन्थॉल प्राकृतिक रूप से दर्द कम करने में सहायक है| पेपरमिंट मांसपेशियों के दर्द को भी कम करता है, जिससे पेट दर्द में आराम मिलता है| आप पेपरमिंट की ताजी पत्तियों से चाय बना सकते हैं या पेपरमिंट टी बैग का इतेमाल कर सकते हैं|

1. पेपरमिंट चाय तैयार कीजिये

पेपरमिंट चाय बनाइये

  • एक कप (लगभग 250 मिली0) गर्म पानी में एक पेपरमिंट टी बैग डालिये|
  • इसे पांच मिनट तक ऐसे ही छोड़ दीजिये|

2. टी बैग हटाकर चाय का आनंद लीजिये

टी बैग निकाल दीजिये
पेट दर्द से तुरंत राहत पाने के लिए पेपरमिंट चाय का सेवन कीजिये
  • टी बैग निकाल दीजिये| अब आपकी पेपरमिंट चाय तैयार है|
  • पेट की असहजता से तुरंत आराम पाने के लिए पेपरमिंट चाय का सेवन कीजिये| आप पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए दिन में एक से दो कप पेपरमिंट चाय पी सकते हैं|
  • आप थोड़ी-सी ताजी पेपरमिंट की पत्तियों को चबा भी सकते हैं| इससे आपका पाचन ठीक रहता है|
  • यह पेट दर्द का घरेलू उपचार है|

# सौंफ की चाय

पेट की समस्याओं के इलाज के लिए प्राचीन समय से सौंफ का इस्तेमाल होता रहा है| एक चम्मच सौंफ चबाकर या सौंफ की चाय के सेवन से पेट में बनने वाली गैस और पेट फूलने से निजात पाया जा सकता है| यह पाचन को सुधारने और पेट में होने वाली मरोड़ को ठीक करने में भी सहायक है| पेट की गंभीर बीमारियों; जैसे इरीटेबल बाउल सिंड्रोम (आईबीएस) के इलाज में भी सौंफ काफी प्रभावी सिद्ध हुई है| यह पेट दर्द का एक घरेलू उपचार है|

1. सौंफ के बीजों को गर्म पानी में डालिए

गर्म पानी में सौंफ के बीज डालिए

  • एक जग में एक कप (लगभग 250 मिली0) गर्म पानी डालिए|
  • इसमें एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 ग्राम) सौंफ के बीज डालिए|
  • अब जग को दस मिनट तक एक कोस्टर से ढक दीजिये|

2. तैयार चाय को कप में छानकर इसका सेवन कीजिये

चाय को कप में छान लीजिये
पेट दर्द ठीक करने के लिए सौंफ की चाय काफी सहायक होती है
  • सौंफ की तैयार चाय को एक कप में छान लीजिये|
  • अब चाय को धीरे-धीरे पीजिये|
  • सौंफ की चाय के सेवन से आपको एक घंटे में पेट दर्द से आराम मिल जाएगा| हर बार खाना खाने के बाद एक कप सौंफ की चाय का सेवन कीजिये|
  • इससे पेट दर्द के लक्षणों में तुरंत आराम मिलेगा और पाचन तंत्र में सुधार आएगा|

# अदरक की चाय

अदरक में जलन कम करने का गुण पाया जाता है, जो पेट में होने वाली जलन को कम करने में सहायक है और पेट दर्द में राहत देती है| स्वास्थ्यवर्धक अदरक की चाय बनाना बहुत आसान होता है| यह पेट दर्द का घरेलू उपचार है|

1. अदरक के टुकड़ों को गर्म पानी में डालिए

गर्म पानी में अदरक के टुकड़े डालिए

  • आधी इंच अदरक को पतले-पतले टुकड़ों में काटकर एक कप (लगभग 250 मिली0) गर्म पानी में डालिए|
  • इसे दस मिनट तक कोस्टर से ढक दीजिये|

2. अदरक की चाय को छानकर इसका सेवन कीजिये

अदरक की चाय छान लीजिये
पेट को दुरुस्त रखने के लिए अदरक की चाय का सेवन कीजिये
  • तैयार अदरक की चाय को छान लीजिये और धीरे-धीरे इसका सेवन कीजिये|
  • अगर आप चाहें, तो आप इसमें एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) शहद भी मिला सकते हैं| इससे चाय का स्वाद बढ़ जाएगा|
  • दिन में दो से तीन कप अदरक की चाय का सेवन कीजिये|
  • पेट की बीमारियों को दूर करने के लिए लगातार दो से तीन दिनों तक अदरक की चाय का सेवन कीजिये|

सुझाव

  • अगर आपको अपच या डायरिया की शिकायत है, तो प्रोबायोटिक दही (योगर्ट) पेट में अच्छे बैक्टीरिया बढ़ाने में सहायक होता है और पाचन को बेहतर बनाता है|
  • प्रोबायोटिक; जैसे केफिर, वाटर केफिर, खट्टी गोभी और अन्य खमीरयुक्त खाद्य पदार्थ भी अपच की रोकथाम में सहायक होते हैं| इनका सेवन खाना खाने के साथ करना चाहिए, ताकि ये पाचन को सुधार सकें|
  • केलों का सेवन करके भी पेट दर्द और जी मिचलाने से निजात पाया जा सकता है|
  • नरम खाद्य पदार्थों; जैसे चावल, आलू, ब्राउन ब्रेड का सेवन कीजिये क्योंकि कमजोर पाचन तंत्र इन भोजन को आसानी से पचा सकता है| ये डायरिया के नियंत्रण में भी सहायक हैं|
  • पपीते का सेवन भी पाचन को बढ़ाने और कब्ज से आराम दिलाने में सहायक है|
  • आप पेट दर्द के इलाज के लिए एलोवेरा रस का भी सेवन कर सकते हैं|
Advertisements