चाहे हमारे सिर में हल्का दर्द हो रहा हो या बहुत तेज, सिरदर्द के कारण हम कोई भी काम नहीं कर पाते हैं| पूरे दिन के लिए हमारे बनाये हुए सभी प्लान्स बेकार हो जाते हैं|

सिर दर्द कम करने के घरेलू उपचार

Advertisements

सिरदर्द हमारे व्यस्त जीवन का एक हिस्सा बन चुका है| लेकिन सिरदर्द में हमेशा दवाओं का सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं रहता है| कभी-कभी दर्द निवारक गोलियों के अधिक सेवन से भी सिरदर्द होने लगता है| सिरदर्द से छुटकारा पाने का घरेलू उपचार का इस्तेमाल बेहतर रहता है|

सिरदर्द के कारण:

तनाव लेने से भी सिर में दर्द बना रहता है| कुछ मामलों में नियमित दिनचर्या से अलग काम करने पर भी सिरदर्द होता है| पर्याप्त नींद न लेना, डीहाइड्रेशन, व्यायाम न करना और कैफीन का अत्यधिक सेवन भी सिर दर्द होने का एक कारण हो सकता है|

नियमित रूप से भोजन का सेवन न करने से ब्लड शुगर कम या हाइपोग्लाइसीमिया हो जाता है| यह भी सिरदर्द होने का एक कारण होता है|

सिरदर्द के प्रकार के आधार पर इसके उपचार भी अलग-अलग होते हैं| यहाँ सिरदर्द से छुटकारा पाने का घरेलू उपचार बताया जा रहा है, जो कि विभिन्न कारणों से होने वाले सिरदर्द में कारगर होते हैं| इन उपचारों की सबसे अच्छी बात यह है कि इनके कोई साइड इफेक्ट नहीं होते हैं|

Advertisements

सिरदर्द से छुटकारा पाने के प्राकृतिक तरीके:

यहाँ हम आपको सिरदर्द से छुटकारा पाने का घरेलू उपचार बताने जा रहें हैं| जिनका उपयोग करके आप सिरदर्द से छुटकारा पा सकते हैं|

विधि 1: पर्याप्त पानी पीना

सिरदर्द, डीहाइड्रेशन का एक सामान्य लक्षण होता है| शरीर होने वाली पानी की कमी को डीहाइड्रेशन कहते हैं| अगर हम एक दिन में दो लीटर से कम पानी पी रहे हैं, तो डीहाइड्रेशन  के कारण सिरदर्द होने की संभावना बढ़ जाती है| इन मामलों में हमें अपने शरीर को हाइड्रेट रखना हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए| यह सिरदर्द से छुटकारा पाने का घरेलू उपचार होता है|

# पानी पीजिये

पर्याप्त पानी पीजिये
पर्याप्त पानी पीकर आप सिरदर्द कम कर सकते हैं|

अपने शरीर को हाइड्रेट रखने का सबसे आसा तरीका है- पानी पीना| पानी को जल्दी-जल्दी निगलने के बजाय इसे घूँट-घूँट करके पीना बेहतर रहता है क्योंकि पानी निगलने से जी मिचलाने और पेट फूलने जैसी समस्याएं हो सकती हैं| धीरे-धीरे पानी पीकर हम सिरदर्द से निजात पा सकते हैं| पूरा दिन थोड़ा-थोड़ा पानी पीते रहिये|

# सेब के सिरके का पानी

आवश्यक सामग्री:

सेब का सिरका पीने के लिए आवश्यक सामग्री

  • सेब का सिरका – एक से दो बड़े चम्मच (लगभग 15 से 30 मिली0)
  • गर्म पानी – एक गिलास (लगभग 250 मिली0)
सेब के सिरके को पानी में मिलाकर इसका सेवन कीजिये

पानी में सेब का सिरका मिलाइए

Advertisements
  • एक गिलास गर्म पानी में एक से दो बड़े चम्मच सेब का सिरका डालिए|
  • इन्हें अच्छे से मिला लीजिये|
  • सिरदर्द से तुरंत निजात पाने के लिए सेब के सिरके के पानी का धीरे-धीरे सेवन कीजिये|

प्रतिदिन सेब के सिरके के पानी का सेवन करने से हमारे शरीर में तरल पदार्थों का संतुलन बना रहता है| इस प्रकार से हमारा शरीर हाइड्रेट रहता है|

प्राकृतिक घरेलू उपचारों में सेब के सिरके का इस्तेमाल किया जाता है और यह विभिन्न रोगों के इलाज में फायदेमंद होता है| यह सिरदर्द कम करने के लिए प्रभावी सिद्ध हुआ है| इसमें स्वाद के लिए थोड़ा-सा शहद और नींबू का रस भी मिला सकते हैं|

सेब के सिरके का सेवन कीजिये
सिरदर्द कम करने के लिए सेब के सिरके का सेवन कीजिये

# नींबू पानी

आवश्यक सामग्री:

नींबू पानी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

Advertisements
  • नींबू का रस – आधा नींबू
  • गर्म पानी – एक गिलास (लगभग 250 मिली0)
नींबू पानी का सेवन कीजिये

पानी में नींबू निचोड़ दीजिये

  • एक गिलास गर्म पानी में आधा नींबू निचोड़ दीजिये|
  • इसे धीरे-धीरे पीजिये क्योंकि यह अभी गर्म है|

दिन में दो बार नींबू पानी के सेवन से गैस के कारण होने वाले सिरदर्द से निजात मिलता है| डीहाइड्रेशन के कारण होने वाले सिरदर्द में भी नींबू पानी कारगर होता है| नींबू पानी पीने से न केवल सिरदर्द कम होंता है, बल्कि यह शरीर के pH स्तर को नही नियंत्रण में रखता है और पाचन में सहायक है| नींबू पानी एक स्वास्थ्यवर्धक पेय होता है| इसके प्रतिदिन के सेवन से शरीर के कार्यों को बेहतर बनाया जा सकता है|

नींबू पानी का सेवन कीजिए
सिरदर्द से निजात पाने के लिए नींबू पानी का सेवन कीजिये

विधि 2: गर्म या ठंडें सेंक का इस्तेमाल

सिरदर्द में आराम पाने के लिए गर्म सेंक (वार्म कंप्रेस) या ठंडा सेंक (कोल्ड कंप्रेस) का इस्तेमाल एक प्रभावी तरीका होता है| गर्म या ठंडें सेंक द्वारा कई तरह से दर्द को कम किया जा सकता है|

वार्म या कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कीजिये
सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए वार्म या कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कीजिये|
  • व्यक्तिगत प्राथमिकताएँ भिन्न हो सकती हैं, लेकिन आम तौर पर माइग्रेन से ग्रसित रोगियों को ठंडें सेंक का उपयोग करना चाहियें| अगर आपको तनाव के कारण सिरदर्द हो रहा है, तो गर्म सेंक का इस्तेमाल कीजिये|
  • ठंडें सेंक को माथे और सिर के ऊपर के भाग में लगाना चाहिए| जबकि गर्म सेंक का इस्तेमाल सिर के पीछे के भाग और गर्दन पर करना चाहिए| सिरदर्द कम होने तक इसका उपयोग कीजिये|
  • आप घर पर बड़ी ही आसानी से गर्म और ठंडा सेंक बना सकते हैं|
  • आप हॉट और कोल्ड शावर भी ले सकते हैं|

विधि 3: कॉफ़ी या चाय का सेवन

सिरदर्द कम करने के लिए कॉफ़ी या चाय का सेवन किया जाता है| ये दोनों पेय सिरदर्द कम करने के काफी लोकप्रिय तरीके हैं|

कॉफ़ी में पाया जाने वाला कैफीन सिरदर्द को नियंत्रित करता है| जब नसें सूजी हुई रक्त वाहिकाओं पर दबाव बनाती हैं, तो सिर में भयानक दर्द होता है| कैफीन इन रक्त वाहिकाओं को सिकोड़ती है, जिससे दर्द कम हो जाता है|

कॉफ़ी का सेवन कीजिये
कॉफ़ी का सेवन सिर दर्द का एक उपाय है|
  • एक कप कॉफ़ी या चाय के सेवन से सिरदर्द खत्म हो जाता है|
  • अदरक-नींबू चाय सिरदर्द कम करने में काफी सहायक होती है| माइग्रेन के कारण जी मिचलाने में भी अदरक-नींबू चाय का सेवन किया जा सकता है| कैमोमाइल चाय भी काफी फायदेमंद होती है|

अगर सर्दी लगने के कारण सिरदर्द हो रहा है, तो दालचीनी की चाय हमारे लिए सहायक होगी| दालचीनी में अधिक मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है, जो सिरदर्द में सहायक होता है| दालचीनी में पाए जाने वाले आयरन, कैल्शियम और अन्य खनिज पदार्थ सामान्य सिरदर्द तथा माइग्रेन का दर्द कम करने में काफी सहायक होते हैं|

Advertisements

सिरदर्द खत्म करने के लिए कॉफ़ी या विभिन्न प्रकार की चाय के सेवन में कुछ बाते ध्यान रखनी चाहिए; जैसे:

  • अगर डीहाइड्रेशन के कारण सिर में दर्द हो रहा है, तो कैफीनयुक्त पेयों का सेवन नहीं करना चाहिए| लेकिन ग्रीन टी और हर्बल टी आपको हाइड्रेट रखते हैं|
  • कॉफ़ी में अधिक मात्रा में कैफीन पाया जाता है, इसलिए नियंत्रित मात्रा में कॉफ़ी का सेवन करना चाहिए| अधिक मात्रा में कैफीन के सेवन से भी सिरदर्द होने लगता है|

विधि 4: अरोमाथेरेपी (सुगंध-चिकित्सा) के उपयोग द्वारा

सिरदर्द कम करने के लिए आप अरोमाथेरेपी के साथ-साथ मालिश भी करवा सकते हैं| अरोमाथेरेपी मालिश उपचार के लिए एसेंशियल ऑयल्स; जैसे पेपरमिंट, यूकेलिप्टस और लैवेंडर ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है|

अरोमाथेरेपी का उपयोग कीजिये
सिरदर्द से राहत पाने के लिए अरोमाथेरेपी का उपयोग कीजिये|

पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल शरीर को राहत पहुंचाता है और दर्द कम करता है| यह हमारे दिमाग को शान्ति प्रदान करता है, जिससे सिरदर्द कम होता है और नींद आने लगती है| यूकेलिप्टस एसेंशियल ऑयल रक्त वाहिकाओं की सूजन कम करता है, जिससे सिरदर्द में काफी आराम मिलता है|

  • अपने पसंदीदा एसेंशियल ऑयल से सिर के किनारों, सिर के पीछे के भाग और गर्दन में हल्के हाथों से मालिश कीजिये|

अरोमाथेरेपी के साथ-साथ आप भाप भी ले सकते हैं| ऐसा करने से सर्दी के कारण होने वाले सिरदर्द में राहत मिलेगी और बंद नाक भी खुल जाएगी|

विधि 5: एक्यूप्रेशर के प्रयोग से

प्राचीन सभ्यताओं में विभिन्न प्रकार के सिरदर्द कम करने के लिए एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल किया जाता था| शरीर के निश्चित बिन्दुओं पर दबाव बनाने से एंडोर्फिन एंजाइम का स्राव होता है| एंडोर्फिन एंजाइम प्राकृतिक दर्द निवारक का काम करता है|

सिरदर्द कम करने के लिए थोड़ा-सा प्रयास करके हम आसानी से एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल कर सकते हैं| इसके लिए हमें शरीर के कुछ जगहों पर हल्के हाथों से दस मिनट तक दबाव बनाना होता है| जब तक आराम नहीं मिल जाता, तब तक एक्यूप्रेशर का उपयोग करते रहना चाहिए | बताई गयी जगहों में से एक या दो जगहों पर दबाव बनाइये|

एक्यूप्रेशर का उपयोग कीजिये
एक्यूप्रेशर से सिरदर्द का उपचार कीजिये|
  1. दोनों हाथों से खोपड़ी/सिर के पीछे के हिस्से में दबाव बनाइये| दोनों हाथों को एक-दूसरे से लगभग चार अंगुल दूर रखिये| दोनों अंगूठों को सिर के पीछे-नीचे के हिस्से में रखकर उँगलियों को थोड़ा ऊपर रखकर दबाव बनाइये|
  2. सिरदर्द कम करने के लिए दूसरा दबाव बिंदु गालों कीई हड्डियों के नीचे स्थित होता है| दोनों हाथों की पहली उँगलियों को नाक से नाक से दो से तीन अंगुल दूर रखकर दबाव बनाना है| ये दबाव बिंदु आँखों के बीच के भाग के ठीक नीचे होते हैं|
  3. हाथों की पहली उंगली और अंगूठे के मिलने के स्थान पर दबाव बनाइये| इस दबाव बिंदु का पता लगाना बहुत आसान है| एक हाथ की पहली उंगली और अंगूठे की सहायता से दूसरे हाथ पर दबाव बनाइये| फिर दूसरे हाथ में ऐसा ही कीजिये|
  4. दोनों भौंहों के बीच के स्थान पर हाथ की पहली उंगली रखिये| यह सबसे सरल दबाव बिंदु है| इससे सिरदर्द, तनाव और थकान भी दूर हो जाती है|
  5. एक दबाव बिंदु खोपड़ी के ठीक नीचे, पीछे कीई ओर स्थ्ति होता है| यह बिंदु रीढ़ की हड्डी से दोनों ओर आधा-आधा इंच दूर होता है|
  6. नाक के दोनों ओर भौंहों के आरम्भ होने के ठीक नीचे हाथों की पहली उँगलियों से दबाव बनाइये| तनाव या सर्दी के कारण होने वाले सिरदर्द से निजात पाने के लिए इस दबाव बिंदु पर दबाव बनाइये|
  7. अपने पैरों पर अंगूठे और पहली उंगली के बीच से लगभग एक इंच पीछे दबाव बनाकर सिरदर्द कम किया जा सकता है|

सुझाव

  • अगर बंद नाक के कारण सिरदर्द हो रह है, तो सेब के सिरके के पानी से भाप ले सकते हैं| एक कटोरे में तीन कप (लगभग 700 मिली0) उबलते पानी में एक चौथाई कप (लगभग 60 मिली0) सेब का सिरका मिलाइए| अब अपने सिर को कटोरे के ऊपर कर के एक तौलिया से ढक लीजिये, ताकि भाप बाहर न जाने पाए| पानी के ठंडा होने तक इससे भाप लीजिये|
  • सेब के सिरके से माथे के दोनों किनारों पर मालिश भी कर सकते हैं|
  • लम्बे समय से होने वाले सिरदर्द के इलाज के लिए मैग्नीशियमयुक्त भोजन का सेवन कीजिये| अल्कोहल, चीज़ और प्रोसेस्ड मीट का सेवन न करें और पर्याप्त पानी पियें| आप तरल पदार्थों, फलों और सब्जियों का सेवन करके भी अपने शरीर को हाइड्रेट रख सकते हैं|
  • सिरदर्द से आराम पाने के लिए दालचीनी पाउडर और पानी के पेस्ट को माथे पर लगाइए|
  • अगर थकान के कारण सिरदर्द हो रहा है, तो पर्याप्त आराम करना चाहिए|
  • अगर सुस्त जीवनशैली के कारण सिरदर्द की शिकायत है, तो अपनी दिनचर्य में हल्का व्यायाम शामिल कीजिये|
  • तनाव और थकान के कारण होने वाले सिरदर्द को योग और ध्यान के माध्यम से खत्म किया जा सकता है|
  • तनाव और थकान के लिए, पैरों को गर्म पानी में डुबोकर थोड़ी देर बैठ जाइए| इससे आपको काफी हल्का महसूस होगा|
  • सिरदर्द के इलाज और रोकथाम के लिए एक्यूप्रेशर काफी प्रभावी सिद्ध हुआ है| यद्यपि एक्यूप्रेशर थोड़ा महंगा होता है, लेकिन लम्बे समय तक इसके फायदे देखने को मिलेंगे| आपको प्रशिक्षित लोगों से ही एक्यूप्रेशर करवाना चाहिए|
Advertisements