अधिकांश लोगों की त्वचा पर मुँहासे हो जाना सामान्य है| किशोरों की त्वचा पर मुँहासे हो जाने से उनके आत्म-विश्वास पर बुरा असर पड़ता है| कील-मुंहासों को एक्ने वल्गेरिस के नाम से भी जाना जाता है| यह वह स्थिति होती है, जब त्वचा के रोम छिद्रों में धूल, मृत कोशिकाएं और अन्य अशुद्धियाँ जमा हो जाती हैं, जिससे रोम छिद्र बंद हो जाते हैं|

त्वचा के बंद रोम छिद्र बैक्टीरिया के पनपने की जगह बन जाते हैं| बंद रोम छिद्रों के कारण ही व्हाइट हेड्स, ब्लैक हेड्स और त्वचा पर लाल रंग का उभार व मवाद (पस) वाले दाने हो जाते हैं|

Advertisements

बंद रोम छिद्रों में लाल रंग का उभार आ जाने से संक्रमण हो जाता है

इसका एक मुख्य कारण सीबेकस ग्रंथियों का अतिसक्रिय हो जाना होता है| शरीर में हार्मोन के असंतुलन, अधिक तनाव लेने, खान-पान की खराब आदतों और दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण सीबेकस ग्रंथियां अतिसक्रिय हो जाती हैं|

कील-मुंहासों से छुटकारा पाने के कई नुस्खे मौजूद हैं, लेकिन आप केवल नींबू के इस्तेमाल से ही मुंहासों को खत्म कर सकते हैं| नींबू में पाए जाने वाले गुण मुंहासों के इलाज के लिए काफी प्रभावी होते हैं|

  • नींबू प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल की भांति कार्य करता है| यह मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करता है|
  • नींबू में पाया जाने वाला साइट्रिक एसिड त्वचा से निकलने वाले अतिरिक्त तेल को कम करने में सहायक है| नींबू त्वचा को साफ़ भी करता है|
  • नींबू में अधिक मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है, जो त्वचा में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाता है और त्वचा की नयी कोशिकाओं का निर्माण करता है|
  • एस्कॉर्बिक एसिड या विटामिन-सी; नींबू को हल्की कसैली प्रकृति प्रदान करते हैं, जो रोम छिद्रों को सिकोड़ देते हैं और मुँहासे फैलने कम हो जाते हैं|
  • नींबू में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो मुक्त कणों (फ्री रेडिकल्स) से त्वचा की रक्षा करते हैं और त्वचा को खराब होने से बचाते हैं|
  • साइट्रिक एसिड त्वचा पर प्राकृतिक ब्लीच का काम करता है, जो मुंहासों के खत्म होने के बाद होने वाले काले दाग-धब्बों को कम करने में सहायक है|

नींबू के रस में अम्लीय प्रकृति पायी जाती है| इसे कुछ अन्य पदार्थों के साथ मिलाने से यह मुंहासों को खत्म करने के घरेलू नुस्खे के रूप में कार्य करता है|

Advertisements

अगर आप नींबू के रस को मुंहासों से छुटकारा पाने वाले पदार्थ में मिलाकर इस्तेमाल करने का विचार कर रहे हैं, तो हम आपको 10 सबसे अच्छे घरेलू नुस्खों के बारे में बता रहे हैं| यहाँ बताये गए उपचारों के इस्तेमाल में आपको अधिक रूपए खर्च करने की भी जरूरत नहीं है|

नोट: नींबू का रस संवेदनशील त्वचा के लिए हानिकाराक हो सकता है| इसलिए त्वचा पर नींबू के रस के इस्तेमाल से पहले संवेदनशीलता की जांच कर लें| नींबू के रस की दो से तीन बूंदों को कलाई पर पंद्रह मिनट तक रखिये| अगर इससे आपको खुजली या जलन, त्वचा में लालिमा नहीं आती है, तो आप नीचे बताये गए उपचारों का इस्तेमाल कर सकते हैं|

त्वचा पर नींबू के इस्तेमाल के अगले कुछ घंटों तक धूप में न निकलें| अगर बाहर निकलना आवश्यक है, तो सनस्क्रीन लगाकर या चेहरे को ढककर ही बाहर निकालें| इन उपचारों के बेहतर परिणाम पाने के लिए आप रात में सोने से पहले उपयोग कीजिये| यहाँ नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय बताये जा रहे हैं|

Contents

विधि 1: नींबू का रस और दालचीनी

नींबू का रस और दालचीनी त्वचा को एंटीबैक्टीरियल गुण प्रदान करते हैं, जो मुंहासों को ठीक करने में सहायक है| दालचीनी त्वचा को स्वस्थ बनाने का काम करती है|

2017 में साइंसिया फार्मास्यूटिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, दालचीनी मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया, प्रोपिओनिबैक्टीरियम और स्टेफाइलोकोकस एपिडर्मिस को खत्म करती है|

नोट: नींबू के रस और दालचीनी के मिश्रण से आपकी त्वचा में जलन हो सकती है| मुंहासों को ठीक करने के लिए हल्की जलन को सहन कीजिये, लेकिन अगर यह जलन असहनीय है, तो त्वचा को तुरंत पानी से धो लीजिये|

आवश्यक सामग्री:

दालचीनी के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

Advertisements
  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – दो बड़े चम्मच (लगभग 30 मिली0)
  • दालचीनी पाउडर (सौम्यता से मुँहासे हटाता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 ग्राम)

1. दालचीनी पाउडर और नींबू को मिला लें

नींबू और दालचीनी पाउडर मिला लें

  • एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच दालचीनी पाउडर निकालिए|
  • इसमें दो बड़े चम्मच नींबू का ताजा रस डालिए|

2. अच्छे से मिलाकर मुंहासों पर लगायें

दालचीनी पाउडर और नींबू के रस को अच्छे से मिला लें
दालचीनी पाउडर और नींबू के रस से बना पेस्ट मुंहासों को जल्द खत्म कर देता है
  • दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें|
  • सौम्य क्लींजर से चेहरे को साफ़ कर लें|
  • तैयार पेस्ट को मुंहासों या उनके दाग-धब्बों पर लगायें|
  • इसे पंद्रह से बीस मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें, फिर सादे पानी धो लें|
  • अब त्वचा पर सौम्य मॉइस्चराइजर लगा लें|

मुंहासों के इलाज के लिए दालचीनी पाउडर और नींबू के रस से बने पेस्ट का सप्ताह में दो से तीन बार इस्तेमाल कीजिये| इस पेस्ट के दो से तीन सप्ताह के इस्तेमाल से मुंहासों से छुटकारा मिल जायेगा| नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय का उपयोग कीजिये|

विधि 2: नींबू और हल्दी

जब नींबू और हल्दी को मिलाया जाता है, तो यह मुंहासों के दागों को कम करके त्वचा की रंगत में निखार लाता है| मुंहासों के इलाज का यह सबसे सरल तरीका है|

हल्दी में पाया जाने वाला कुर्कुमिन यौगिक त्वचा की सूजन को कम करता है, जिससे मुंहासों में होने वाले दर्द और सूजन में राहत मिलती है| हल्दी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट त्वचा को जल्दी ठीक करने में सहायक हैं| त्वचा पर हल्दी के इस्तेमाल के बाद त्वचा पर हल्दी के दाग रह जाते हैं| त्वचा को कई बार धोने के बाद ये दाग चले जाते हैं|

Advertisements

आवश्यक सामग्री:

हल्दी के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल)
  • हल्दी पाउडर (त्वचा की सूजन कम करता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 ग्राम)

1. नींबू और हल्दी को कटोरे में निकाल लें

हल्दी और नींबू को मिला लें

  • एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच हल्दी पाउडर निकालें|
  • इसमें एक नींबू निचोड़ दें|

2. दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिलाकर मुंहासों पर लगायें

नींबू और हल्दी को मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें
नींबू और हल्दी के पेस्ट से मुंहासों के दाग जल्दी हल्के हो जाते हैं
  • चम्मच की सहायता से हल्दी और नींबू को अच्छे से मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें|
  • तैयार पेस्ट को दस से पंद्रह मिनट के लिए मुंहासों पर लगायें|
  • फिर त्वचा को सादे पानी से धोकर तौलिया से सुखा लें|
  • अब सौम्य मॉइस्चराइजर लगा लें|

मुंहासों के इलाज के लिए सप्ताह में दो से तीन बार इस उपचार का इस्तेमाल कीजिये| इस पेस्ट के इस्तेमाल से आप एक माह के भीतर ही दाग-धब्बों से छुटकारा पा सकते हैं|

विधि 3: नींबू और बेकिंग सोडा

नींबू और बेकिंग सोडा का मिश्रण आपके मुंहासों पर प्रभावी रूप से कार्य करता है| बेकिंग सोडा की दानेदार बनावट त्वचा और रोम छिद्रों को साफ़ करने का काम करती है| बेकिंग सोडा मुँहासे की सूजन को भी कम करता है| नींबू त्वचा के अतिरिक्त तेल को हटाता है और रोम छिद्रों को बंद करने वाले बैक्टीरिया को मारता है|

आवश्यक सामग्री:

Advertisements

नींबू और बेकिंग सोडा के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल गुण) – एक
  • बेकिंग सोडा (रोम छिद्रों को साफ़ करता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 ग्राम)

1. बेकिंग सोडा और नींबू के रस को मिला लें

नींबू के रस और बेकिंग सोडा को मिला लें

  • एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा निकालिए|
  • इसमें एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0) नींबू का ताजा रस डालिए|

2. अच्छे से मिलाकर मुंहासों पर इस्तेमाल कीजिये

नींबू के रस और बेकिंग सोडा को अच्छे से मिला लें
नींबू के रस और बेकिंग सोडा का पेस्ट मुंहासों का बेहतर उपचार है
  • जब बेकिंग सोडा में नींबू का रस डाला जाता है, तो इसमें झाग बनने लगता है| इन्हें पेस्ट बनने तक अच्छी तरह से चलाते रहें|
  • तैयार बेकिंग सोडा पेस्ट को मुंहासों पर लगायें|
  • दस मिनट के बाद त्वचा को ठण्डे पानी से धोकर तौलिया से पोछ लें|
  • अब त्वचा पर सौम्य मॉइस्चराइजर लगा लें|

मुंहासों को ठीक करने और दागों को हल्का करने के लिए सप्ताह में एक से दो बार इस पेस्ट का इस्तेमाल करें| नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय का उपयोग कीजिये|

विधि 4: नींबू, शहद और दूध

नींबू, शहद और दूध का मिश्रण मुंहासों के उपचार का काफी प्राचीन घरेलू नुस्खा है| यह नुस्खा हर प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त होता है| शहद और नींबू में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं और दूध त्वचा को साफ़ करने का काम करता है| शहद बंद रोम छिद्रों से अतिरिक्त नमी को भी सोख लेता है, जिससे बैक्टीरिया मर जाते हैं तथा त्वचा से निकलने वाले अतिरिक्त तेल को भी कम करने में सहायक है, जिससे मुँहासे फैलते नहीं हैं|

आवश्यक सामग्री:

मुंहासों के लिए नींबू और शहद के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू का ताजा रस (एंटीबैक्टीरियल) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0)
  • दूध (त्वचा को साफ़ करता है) – एक चौथाई कप (लगभग 60 मिली0)
  • शहद (त्वचा को नमी प्रदान करता है) – दो बड़े चम्मच (लगभग 30 ग्राम)

1. नींबू के रस, दूध और शहद को कटोरी में निकाल लें

दूध, शहद और नींबू के रस को मिला लीजिये

  • एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच नींबू का ताजा रस निकाल लें|
  • इसमें दो बड़े चम्मच शुद्ध शहद डालें|
  • अब इसमें एक चौथाई कप दूध डालें|

2. मिश्रण तैयार करके मुंहासों पर लगायें

दूध, शहद और नींबू के रस से मिश्रण तैयार करें
यह मिश्रण मुंहासों के दाग-धब्बों को हटा देता है
  • तीनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिला लें|
  • थोड़ी-सी रुई को तैयार मिश्रण में डुबोकर मुंहासों के दाग-धब्बों पर लगायें|
  • मिश्रण को बीस मिनट तक दाग पर लगा रहने दीजिये, फिर गुनगुने पानी से चेहरा धो लीजिये|

मुंहासों के इलाज के लिए दो से तीन सप्ताह तक प्रतिदिन इस नुस्खे का इस्तेमाल कीजिये| नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय का उपयोग कीजिये|

विधि 5: नींबू और खीरा

मुँहासे के प्राकृतिक उपचार के लिए नींबू के रस को खीरे के साथ मिलाया जा सकता है| खीरे में पानी की अधिक मात्रा और पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो त्वचा में पर्याप्त नमी बनाये रखते हैं| नींबू का रस और खीरा त्वचा को ठंडक प्रदान करते हैं| यह मिश्रण त्वचा के अतिरिक्त तेल से भी छुटकारा दिलाने में सहायक है|

आवश्यक सामग्री:

नींबू और खीरे का पेस्ट बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – एक नींबू
  • पिसा हुआ खीरा (त्वचा को राहत और नमी प्रदान करता है) – एक खीरा

खीरे और नींबू के मिश्रण को चेहरे पर लगायें

नींबू और खीरे के मिश्रण का इस्तेमाल करें
खीरे और नींबू के रस का मिश्रण मुंहासों को सौम्यता से खत्म कर देता है
  • एक खीरे को पीसकर इसमें एक नींबू निचोड़ दें|
  • दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिला लें|
  • तैयार पेस्ट को चेहरे पर लगा लें|
  • इसे बीस मिनट तक चेहरे पर लगा रहने दें, फिर ठण्डे पानी से धो लें|
  • चेहरे को तौलिया से पोछकर सौम्य मॉइस्चराइजर लगा लें|

जब तक आपको संतोषजनक परिणाम नहीं मिल जाते, तब तक प्रतिदिन खीरे और नींबू के मिश्रण का इस्तेमाल करते रहिये|

विधि 6: नींबू और दही (योगर्ट)

मुंहासों को ठीक करने के लिए दही (योगर्ट) एंटीबैक्टीरियल की भांति कार्य करता है|  इसमें अच्छे बैक्टीरिया पाए जाते हैं, जो त्वचा के अंदर और बाहर के बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं| दही (योगर्ट) में लैक्टिक अम्ल भी पाया जाता है, जो नींबू के साथ मिलकर त्वचा को साफ करने में सहायक है| यह नींबू के साथ मिलकर त्वचा को नमी भी प्रदान करता है|

Advertisements

आवश्यक सामग्री:

नींबू और दही (योगर्ट) का मिश्रण बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – आधा नींबू
  • सादा दही (योगर्ट) (त्वचा को नमी प्रदान करता है) – आधा कप (लगभग 100 ग्राम)

दही (योगर्ट) में नींबू का रस मिलाएं

नींबू के रस को दही (योगर्ट) में डालें
मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए नींबू और दही (योगर्ट) के मिश्रण का उपयोग करें
  • आधा कप सादे दही (योगर्ट) में आधा नींबू निचोड़ दें|
  • दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिलाकर एक चिकना पेस्ट तैयार कर लें|
  • अगर आपके चेहरे पर कोई मेकअप लगा है, तो चेहरा धोकर तौलिया से पोछ लें|
  • तैयार पेस्ट को मुँहासे पर लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें|
  • इसे दस मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें और फिर ठण्डे पानी से चेहरा धो लें|
  • अब चेहरे को तौलिया से पोछकर मॉइस्चराइजर लगा लें|

एक माह में मुंहासों और उनके दागों को पूरी तरह से खत्म करने के लिए सप्ताह में दो से तीन बार इस घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल करें|

विधि 7: नींबू और गुलाब जल

गुलाब जल मुँहासे की सूजन को कम करके त्वचा को आराम पहुंचाता है| इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो मुँहासे के बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करते हैं|

जब गुलाब जल को नींबू के रस में मिलाया जाता है, तो यह नींबू की अम्लता को कम कर देता है| जिससे इसे संवेदनशील त्वचा पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है|

आवश्यक सामग्री:

नींबू और गुलाब जल के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – एक
  • गुलाब जल (सूजन कम करता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0)

1. गुलाब जल में नींबू का रस डालें

नींबू के रस को गुलाब जल में डालें

  • एक छोटी कटोरी में एक बड़ा चम्मच गुलाब जल निकालें|
  • इसमें समान मात्रा में नींबू का रस डालें|
  • दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिला लें|

2. तैयार मिश्रण को मुंहासों पर लगायें

मुंहासों पर गुलाब जल और नींबू के रस का मिश्रण लगायें

  • थोड़ी-सी रुई को तैयार मिश्रण में डुबोइए|
  • अब इस रुई को मुंहासों पर लगाइए|
  • इस मिश्रण को पंद्रह से बीस मिनट तक त्वचा पर ही लगा रहने दीजिये|
  • फिर त्वचा को ठण्डे पानी से धोकर तौलिया से पोछ लीजिये|

दिन में एक बार इस मिश्रण के इस्तेमाल से मुंहासे और उनके दाग आसानी से खत्म हो जायेंगे और आपको दमकती हुई त्वचा मिल जायेगी|

विधि 8: नींबू और चीनी

मुंहासों के इलाज के लिए नींबू और चीनी को मिलाकर एक स्क्रब तैयार किया जा सकता है, जो त्वचा को नमी प्रदान करता है| चीनी मुंहासों के बैक्टीरिया को खत्म करने का भी काम करती है| इस विधि में शहद और जैतून के तेल (ऑलिव ऑयल) का भी इस्तेमाल किया गया है, जो एंटीबैक्टीरियल की तरह काम करते हैं और त्वचा को पोषण प्रदान करके इसे कोमल बनाते हैं| अगर आपके हाथ रूखे हो गए हैं, तो आप नींबू के इस्तेमाल से हाथों के रूखेपन का इलाज कर सकते हैं|

आवश्यक सामग्री:

मुंहासों के इलाज के लिए नींबू और चीनी के उपयोग के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – आधा नींबू
  • जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) (त्वचा को नमी प्रदान करता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0)
  • महीन दाने वाली चीनी (फाइन शुगर) – आधा कप (लगभग 100 ग्राम)
  • शुद्ध शहद (एंटीबैक्टीरियल) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 ग्राम)

1. चीनी, नींबू, ऑलिव ऑयल और शहद को कटोरी में निकाल लें

सभी पदार्थों को मिला लें

  • एक कटोरी में आधा कप महीन दाने वाली चीनी (फाइन शुगर) निकाल लें|
  • इसमें आधा नींबू निचोड़ दें|
  • अब इसमें एक बड़ा चम्मच शुद्ध शहद डालें|
  • फिर इसमें एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) डाल दें|

2. सभी सामग्रियों को अच्छे से मिलाकर मुंहासों पर लगायें

सभी पदार्थों को अच्छी तरह से मिला लें
यह स्क्रब मुंहासों को बार-बार होने से रोकता है
  • चारों सामग्रियों को अच्छी तरह से मिलाकर स्क्रब तैयार कर लें|
  • तैयार स्क्रब को मुंहासों पर लगाकर दो मिनट तक हल्के हाथों से मालिश करें|
  • इसे दस मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें और फिर पानी से चेहरा धो लें|

मुंहासों को बार-बार होने से रोकने के लिए सप्ताह में दो बार इस स्क्रब का इस्तेमाल करें| यह स्क्रब त्वचा को पोषण प्रदान करके स्वस्थ बनाता है| नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय

विधि 9: नींबू और एलोवेरा

मुंहासों को खत्म करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है| एलोवेरा में पाए जाने वाले पोषक तत्व त्वचा में पर्याप्त नमी बनाये रखते हैं| यह मुंहासों के दाग-धब्बों को कम करने के लिए नयी कोशिकाओं के निर्माण में भी सहायक है| सौन्दर्य के लिए कई तरह से एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है|

आवश्यक सामग्री:

मुंहासों पर नींबू और एलोवेरा के इस्तेमाल के लिए आवश्यक सामग्री

  • नींबू (एंटीबैक्टीरियल) – एक
  • एलोवेरा जेल (त्वचा को फिर से जवां बनाता है) – एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0)

1. नींबू के रस और एलोवेरा जेल को मिला लें

एलोवेरा जेल और नींबू का रस मिला लें

  • एक कटोरे में एलोवेरा जेल लेकर इसमें एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली0) नींबू का रस डाल दें|
  • आप एलोवेरा जेल को बाजार से खरीद सकते हैं या घर पर ताजा एलोवेरा जेल बना सकते हैं|

2. दोनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिलाकर मुंहासों पर लगायें

दोनों सामग्रियों को अच्छे से मिला लें
एलोवेरा जेल और नींबू के मिश्रण को मुंहासों वाली त्वचा पर लगायें
  • एलोवेरा जेल और नींबू के रस को मिला लें|
  • थोड़ी सी रुई में मिश्रण लेकर इसे मुंहासों के दाग-धब्बों पर लगायें|
  • इसे पंद्रह मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें और फिर चेहरे को ठण्डे पानी से धो लें|
  • अब त्वचा को तौलिया से पोछकर मॉइस्चराइजर लगा लें|

जब तक मुँहासे पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाते और दाग-धब्बे हल्के नहीं हो जाते, तब तक एलोवेरा और नींबू के मिश्रण का इस्तेमाल करते रहें|

विधि 10:  नींबू का रस

अगर आपकी त्वचा अधिक संवेदनशील नहीं है, तो मुंहासों के इलाज के लिए नींबू का रस लगाना सबसे सरल उपचार है| लेकिन नींबू के रस का इस्तेमाल करने के बाद त्वचा पर हमेशा मॉइस्चराइजर लगाना चाहिए, इससे त्वचा रूखी नहीं होगी| अगर नींबू का रस आपकी त्वचा के लिए उपयुक्त नहीं है, तो आप कील-मुंहासों को जड़ से खत्म करने के कुछ अन्य घरेलू उपचारों का इस्तेमाल कर सकते हैं|

मुंहासों पर नींबू का रस लगायें

नींबू के रस को मुंहासों पर लगायें
नींबू का रस मुंहासों के लिए सबसे प्रभावी तरीका है
  • थोड़ी सी रुई में नींबू का ताजा रस ले लीजिये|
  • अब रूई को मुंहासों के दाग-धब्बों पर लगाकर हल्का-सा दबाइए|
  • रुई को हटा दें और नींबू के रस को त्वचा पर सूख जाने दें|
  • फिर चेहरे को धोकर तौलिया से पोछ लें|
  • चेहरा धोने के बाद मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें|

जब तक आपको मुंहासों से पूरी तरह से छुटकारा नहीं मिल जाता, तब तक दिन में एक बार नींबू के रस का इस्तेमाल कीजिये| नींबू से कील-मुंहासे हटाने के उपाय का उपयोग कीजिये|

सुझाव

  • अगर आपको बार-बार मुँहासे होने की समस्या है, तो आप अपने गंदे हाथों से चेहरे को बार-बार न छुएं| ऐसा करने से भी मुँहासे हो जाते हैं|
  • कील-मुंहासों को फोड़ें नहीं| अन्यथा आपकी त्वचा पर मुंहासों के दाग बन जायेंगे|
  • ऊपर बताये गए किसी भी उपचार का इस्तेमाल करने के बाद आप त्वचा में नमी बनाये रखने के लिए जैतून का तेल (ऑलव ऑयल) लगा सकते हैं| जैतून के तेल (ऑलव ऑयल) में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-ई त्वचा को स्वस्थ बनाते हैं|
  • किसी भी उपचार को उपयोग करने से पहले अपने चेहरे को सौम्य साबुन से धोएं| तेज सुगंध वाले फेसवॉश अक्सर त्वचा को रूखा बना देते हैं| इसलिए आप घर पर बने फेसवॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं|
Advertisements